‘पाताल लोक’ को लेकर गोरखा समुदाय की आपत्ति, अनुष्का को लीगल नोटिस

पाताल लोक वेब सीरिज इन दिनों काफी सुर्खियों में है

Published
बॉलीवुड
2 min read
पाताल लोक वेब सीरिज इन दिनों चर्चाओं में है.
i

वेब सीरीज 'पाताल लोक' सुर्खियों में है और अब विवादों में भी आ गई है. लॉयर गिल्ड मेंबर वीरेन सिंह गुरुंग ने सीरीज की को-प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा को लीगल नोटिस भेजा है. 18 मई को भेजे गए इस नोटिस में आरोप है कि वेब सीरीज में जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल हुआ है, जिससे पूरे नेपाली समुदाय का अपमान हुआ है. बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में वीरेंद्र सिंह गुरुंग मुफ्त में लीगल एडवाइस मुहैया कराते हैं और प्रणय राय एंड एसोसिएट्स चैंबर्स से जुड़े हुए हैं.

अनुष्का शर्मा को भेजे गए लीगल नोटिस की एक कॉपी द क्विंट के पास भी है. गुरुंग का कहना है,

दूसरे एपिसोड के एक क्लिप में ऐसा दिख रहा है कि लेडी पुलिस ऑफिसर, एक नेपाली किरदार से पूछताछ में जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं. अगर सिर्फ ‘नेपाली’ शब्द का इस्तेमाल किया गया होता तो कोई दिक्कत नहीं थी लेकिन उसके बाद जिस शब्द का इस्तेमाल हुआ है वो कतई मंजूर नहीं है. क्योंकि अनुष्का शर्मा इस सीरीज की प्रोड्यूसर हैं तो उन्हें नोटिस भेजा गया है.

गुरुंग ने बताया कि अनुष्का शर्मा की तरफ से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला. उन्होंने कहा कि अगर जवाब नहीं मिलता है तो लीगल टीम मामले को आगे ले जाएगी और सीरीज के स्ट्रीमिॆग पॉर्टनर अमेजन प्राइम वीडियो और दूसरे लोग जो इससे जुड़े हैं उनको भी मामले में लाया जाएगा.

गोरखा समुदाय ने की माफी की मांग

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, गोरखा समुदाय ने इस जातिसूचक शब्द पर कड़ी आपत्ति जताई है और इसे हटाए जाने की मांग कर रहे हैं. 18 मई को एक ऑनलाइन पेटीशन भी शुरू की गई है. मांग है कि शब्द को म्यूट किया जाए, सबटाइटल को ब्लर किया जाए और एडिटेड वीडियो को प्लेटफॉर्म पर दिखाया जाए. साथ ही समुदाय ने बिना शर्त माफी और डिस्क्लेमर की भी मांग की है.

भारतीय गोरखा युवा परिसंघ ने पेटीशन में कहा है, ‘’सीरीज में एक किरदार का नाम मैरी लिंगदोह है, जो मेघालय के खासी समुदाय का कॉमन सरनेम है.एक पुलिसकर्मी द्वारा उसका अपमान किया जाना पूर्वोत्तर के लोगों के लिए रूढ़िवादिता को ही दर्शा रहा है.गोरखा सबसे बड़ा नेपाली-भाषी समुदाय है और यह शब्द पूरे समुदाय पर असर डालता है.’’

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय गोरखा युवा परिसंघ के अध्यक्ष नंदा किरण देवकी का कहना है कि एक तरफ समुदाय को कोरोना वायरस की वजह से नस्लवाद का सामना करना पड़ा रहा है अब इस वेब सीरीज ने नई मुसीबत खड़ी कर दी है. पाताल लोक से सिर्फ नस्लवाद ही शुरू नहीं होगा बल्कि महिलाओं से रेप की कोशिश भी होगी. दीवान ने ये चेतावनी भी दी कि अगर तीन दिन के भीतर OTT प्लेटफॉर्म के प्रोड्यूसर जवाब नहीं देते तो मामले को कोर्ट में ले जाया जाएगा.

पाताल लोक को सराहना भी मिल रही है

बता दें कि पाताल लोक को लोगों के बीच सराहना भी खूब मिल रही है. अनुष्का शर्मा का कहना है कि इसकी कामयाबी के पीछे कहानी बड़ी वजह है. इस वेब सीरीज में जयदीप अहलावत, नीरज काबी, अभिषेक बनर्जी, स्वस्तिका मुखर्जी, निहारिका, जगजीत, गुल पनाग जैसे एक्टर्स ने काम किया है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!