दादा साहब फाल्के | जिन्होंने सिखाया कि कहानी पर्दे पर धड़क सकती है

दादा साहब फाल्के ने ‘राजा हरिशचंद्र’ नाम की भारत की पहली फिल्म बनाई थी 

Updated30 Apr 2020, 03:47 AM IST
बॉलीवुड
1 min read

(दादा साहेब फाल्के के जन्मदिन पर इस खबर को दोबारा पब्लिश किया जा रहा है.)

एक ऐसा शख्स जिसने 1910 में फिल्म 'द लाइफ ऑफ क्राइस्ट' देखने के बाद से लगातार दो महीने तक उस समय रिलीज हुई सारी फिल्मों को देखने के बाद यह निर्णय लिया कि वह फिल्में बनाएगा और भारतीय फिल्म जगत में एक नया इतिहास रचेगा. और ऐसा हुआ भी. 3 मई, 1913 में दादा साहब फाल्के ने 'राजा हरिशचंद्र' नाम की पहली फिल्म बनाई, जो मुंबई में रिलीज की गई.इस फिल्म ने इतिहास रच दिया. उनके हुनर ने सिनेमा जगत को एक अलग पहचान दी. आज उनकी जयंती के मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं उनकी पहली फिल्म के बारे में-

 दादा साहब फाल्के का फिल्मी सफर 
दादा साहब फाल्के का फिल्मी सफर 
(इंफोग्राफ: Rahul Gupta/The Quint)

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 30 Apr 2018, 08:59 AM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर को और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!