दीपिका को दिग्गजों का समर्थन जारी, शोभा डे-सोनाक्षी ने भी की तारीफ

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण मंगलवार को JNU यूनिवर्सिटी के छात्रों को सपोर्ट करने पहुंची थी.

Published
बॉलीवुड
2 min read
बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण मंगलवार को JNU यूनिवर्सिटी के छात्रों को सपोर्ट करने पहुंची थी.
i

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण मंगलवार को JNU यूनिवर्सिटी के छात्रों को सपोर्ट करने पहुंची थी. इस मामले को लेकर लोगों की राय दो हिस्सों में बंट गई है. एक तरफ दीपिका की अपकमिंग फिल्म को लोग सोशल मीडिया पर बायकॉट करने की मुहिम चला रहे हैं वहीं दूसरी आम लोगों ले लेकर कई दिग्गज दीपिका के सपोर्ट में उतर आएं हैं.

बायोकॉन की एमडी और सीईओ किरण मजूमदार शॉ ने एक वाडियो पोस्ट करते हुए लिखा है कि,
दीपिका के लिए बहुत सम्मान - आपकी ईमानदारी आपके चरित्र को परिभाषित करती है.

भारतीय लेखक शोभा डे ने भी दीपिका का तारीफ करते हुए ट्वीट क्या है. उन्होंने लिखा है कि आपको बहुत बधाई दीपिका पादुकोण, बीजेपी ने आपको बायकॉट करने की ठान ली है. आप तारीफ के काबिल हैं. ये किसी अवॉर्ड से भी बड़ा है. #JNUSTUDENTS का समर्थन करने के लिए शुक्रिया. भारत और पूरी दुनिया में आपके समर्थक हैं.

वहीं एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा ने भी दीपिका की तारीफ करते हुए कहा कि ये चुप रहने का वक्त नहीं है.

डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने दीपिका के सपोर्ट में ट्वीट करते हुए लिखा, किसी भी प्रजाति में फीमेल हमेशा से ही ताकतवर थी, है और रहेगी. छपाक का पहला दिन सारे शो. वो सभी लोग जो हिंसा के खिलाफ खड़े हैं उन्हें बुक माई शो पर जाना चाहिए और इन लोगों को दिखा देना चाहिए. एक साइलेंट बयान देने का समय आ गया है जो सबसे ज्यादा मारक साबित होगा.

वहीं सुधीर मिश्रा और हंसल मेहता जैसे फिल्म इंडस्ट्री के सीनियर और अनुभवी फिल्मकारों ने भी दीपिका का समर्थन किया.

मेघना गुलजार के डायरेक्शन में बन रही दीपिका पादुकोण की ‘छपाक’ 10 जनवरी को रिलीज होने जा रही है. ये फिल्म एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी पर आधारित है.

जेएनयू में छात्रों के साथ हुई हिंसा के विराध प्रदर्शन में मंगलवार रात दीपिका पादुकोण जेएनयू कैंपस पहुंची थी. दीपिका ने जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) अध्यक्ष आइशी घोष से भी मिली थी, जो हमले में जख्मी हो गईं थीं.

जेएनयू में हमला, आरोप-प्रत्यारोप शुरू

दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में 5 जनवरी की शाम भारी हिंसा और तोड़फोड़ हुई है. पुलिस इसे दो ग्रुप्स के बीच झड़प का नतीजा बता रही है. वहीं, जेएनयू छात्र संघ ने छात्रों और प्रोफेसरों पर हमले के पीछे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का हाथ होने का आरोप लगाया है. उधर, एबीवीपी लेफ्ट विंग एक्टिविस्ट्स पर जेएनयू में हिंसा के आरोप लगा रहा है.

यह भी पढ़ें: JNU में दीपिका: एक तरफ #Boycottchhapaak, दूसरी तरफ समर्थन में फैन

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!