जया बोलीं-जिस थाली में खाया,उसमें छेद करते हैं,रवि किशन का जवाब

राज्यसभा जया बच्चन ने फिल्म इंडस्ट्री का मुद्दा उठाते हुए सरकार से मदद मांगी.

Updated
एंटरटेनमेंट
2 min read
 जया बोलीं-जिस थाली में खाया,उसमें छेद करते हैं,रवि किशन का जवाब

राज्यसभा में मंगलवार को समाजवादी पार्टी की सांसद और फिल्म अभिनेत्री जया बच्चन ने फिल्म इंडस्ट्री का मुद्दा उठाते हुए सरकार से मदद मांगी. जया ने राज्यसभा में कहा कि सरकार को फिल्म इंडस्ट्री के समर्थन में आना चाहिए. उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री में कुछ लोग ऐसे हैं, जो सबसे ज्यादा टैक्स देते है, लेकिन उनको परेशान किया जा रहा है. जया बच्चन ने कहा-

मैं बहुत शर्मिंदा थी कि कल हमारे एक सांसद ने लोकसभा में फिल्म इंडस्ट्री के खिलाफ बोला, जो खुद इंडस्ट्री से हैं. ये शर्म की बात है, ‘जिस थाली में खाते हैं उसमें छेद करते हैं’ गलत बात है, इंडस्ट्री को सरकार का समर्थन चाहिए.

बता दें कि सोमवार को रवि किशन ने लोकसभा में बॉलीवुड में बढ़ते ड्रग के मामले पर चिंता जताई थी. साथ ही सरकार तस्करी और इसका इस्तेमाल करने वालों पर सख्ती से रोक लगाने की बात कही थी. जया ने बिना नाम लिए रवि किशन पर हमला बोला.

जिन लोगों ने फिल्म इंडस्ट्री में अपना नाम बनाया है उन्होंने इसे गटर बुलाया, मैं पूरी तरह इससे असहमत हूं, मैं उम्मीद करती हूं कि सरकार इन लोगों को बताए, जिन्होंने इससे अपना नाम और प्रसिद्धि कमाई कि ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना बंद करें.

जया बच्चन के बयान के बाद बीजेपी सांसद और फिल्म अभिनेता रवि किशन ने कहा-

मुझे जया जी से ये उम्मीद नहीं थी, मुझे लगा था कि मेरे कल के व्यक्तव्य पर जया जी आज समर्थन देंगी या तो उन्होंने मेरी बात सुनी ही नहीं. उनकी पार्टी अलग है, उनकी विचारधारा अलग है. मेरी पार्टी बीजेपी है, हमारी विचारधारा है गंदगी को देश से साफ करना, जितनी फिल्म इंडस्ट्री उनकी है उतना हक इस इंडस्ट्री पर मेरा भी है, मैं इंडस्ट्री को खोखला होने नहीं दूंगा भले मेरी जान चली जाए.

जया बच्चन ने कहा कि देश में कोई समस्या सामने आती है, तो बॉलीवुड के लोग ही मदद के लिए खड़े होते हैं. उन्होंने कहा कि इसी इंडस्ट्री से ताल्लुक रखने वाले एक कलाकार ने इंडस्ट्री के खिलाफ बोला है, यह सही नहीं है.

ये भी पढ़ें- राजनाथ सिंह आज लोकसभा में भारत-चीन सीमा मुद्दे पर देंगे बयान

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!