सुपरस्टार रजनीकांत को दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को ऐलान किया. 

रजनीकांत
i

साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा, केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने गुरुवार को घोषणा की है कि सुपरस्टार रजनीकांत को 51 वें दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा, जावड़ेकर ने यह घोषणा ट्विटर के जरिए की और रजनीकांत को भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे महान अभिनेताओं में से एक बताया,ट

उन्होंने रजनीकांत की एक फोटो शेयर करते हुए लिखा,

साल 2020 के लिए दादा साहब फाल्के पुरस्कार की घोषणा करते हुए बहुत खुश हूं कि इस साल यह भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे महान अभिनेताओं में से एक रजनीकांत जी को उनके अभिनय, निर्माण और पटकथा लेखन के तौर पर दिए गए योगदान के लिए दिया जाएगा. मैं जूरी के सभी सदस्यों आशा भोंसले, सुभाष घई, मोहनलाल और बिस्वजीत चटर्जी को धन्यवाद देता हूं.

भारत में सबसे लोकप्रिय सितारों में से एक रजनीकांत को भारत सरकार द्वारा 2000 में पद्म भूषण और 2016 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया जा चुका है. रजनीकांत ने तमिल सिनेमा में 'अपूर्व रागंगल' से डेब्यू किया था. उनकी कई हिट फिल्मों में 'बाशा', 'शिवाजी' और 'एंथिरन' जैसी फिल्में हैं। वे अपने प्रशंसकों के बीच थलाइवर (नेता) के रूप में जाने जाते हैं.

बता दें कि दादा साहेब फाल्के पुरस्कार सिनेमा जगत में भारत में दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है, यह भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय के फिल्म समारोह निदेशालय द्वारा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के साथ दिया जाता है. यह पुरस्कार पहली बार अभिनेत्री देविका रानी को दिया गया था, वहीं हाल के सालों में यह पुरस्कार पाने वालों में अमिताभ बच्चन, विनोद खन्ना, फिल्म निर्माता के. विश्वनाथ और मनोज कुमार शामिल हैं,

रजनीकांत साउथ के तो सुपरस्टार है हीं साथ ही बॉलीवुड में भी कई नायाब फिल्में बनाई हैं. साउथ के लोग तो उन्हें भगवान की तरह पूजते हैं. साल 1975 में रजनीकांत की पहली तमिल फिल्म 'अपूर्वा रांगगल' आई, इस फिल्म में रजनीकांत को सपोर्टिंग रोल में थे.

उनके इस किरदार को काफी सराहा गया, इसके बाद उन्हें कन्नड़ मूवीज में भी काम किया.

रजनीकांत बॉलीवुड में 'दोस्ती दुश्मनी', 'बुलंदी', 'गिरफ्तार', 'इंसानियत के देवता', 'फूल बने अंगारे', 'इंसाफ कौन करेगा', 'खून का कर्ज', 'चालबाज', 'हम', '2.0' जैसी सुपरहिट फिल्में कीं. रजनीकांत को सिनेमा में उनके योगदान के लिए साल 2000 में पद्मभूषण और 2016 में पद्मविभूषण से सम्मानित किया गया.

ये भी पढ़ें-

CAA के समर्थन में रजनीकांत,कहा-मुस्लिम लोगों को इससे कोई खतरा नहीं

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!