मुस्लिम महिलाओं को ‘तीन तलाक’ से आजादी कब मिलेगी?
मुस्लिम महिलाओं को ‘तीन तलाक’ से आजादी कब मिलेगी?(फोटो: द क्विंट)
  • 1. बिल की खास बातें
  • 2. बिल को कैसे मिली कैबिनेट की मंजूरी
  • 3. कानून बनाने की योजना की शुरुआत
  • 4. सुप्रीम कोर्ट का एतिहासिक फैसला
  • 5. फैसले के दौरान कोर्ट की कार्यवाही की कुछ अहम बातें
  • 6. सुप्रीम कोर्ट में 11 से 18 मई तक चली थी सुनवाई
ट्रिपल तलाक: जानें शुरू से लेकर अब तक की सारी बड़ी बातें

लोकसभा में तीन तलाक बिल पारित हो गया. ट्रिपल तलाक को गैर जमानती अपराध बनाने के लिए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में ‘मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण’ विधेयक पेश किया था, जिसमें संशोधन के लिए ऑल इंडिया मज्लिस ए इतेहादुल मुसलिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने संशोधन पेश किया था. लेकिन इसके समर्थन में सिर्फ दो वोट पड़े. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद केंद्र सरकार ने इस पर सख्त कानून बनाने का फैसला किया था.

  • 1. बिल की खास बातें

    • एक बार में तीन तलाक गैरकानूनी और अवैध होगा
    • ऐसा करने वाले पति को होगी तीन साल के कारावास की सजा
    • तीन तलाक देना गैरजमानती और संज्ञेय अपराध होगा
    • पीड़िता को मिलेगा गुजारा भत्ता का अधिकार
    • मजिस्ट्रेट करेंगे इस मुद्दे पर अंतिम फैसला
    • जम्मू-कश्मीर को छोड़ कर पूरे देश में लागू होना है

    ये भी पढ़ें मंगलसूत्र सिर्फ धागा नहीं किसी का पूरा संसार है

    मुस्लिम महिलाओं को ‘तीन तलाक’ से आजादी कब मिलेगी?
पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो