वेबकूफ:जानिए वायरल हो रही COVID-19 मेडिकल किट वाले मैसेज की सच्चाई

कुछ दवाइयों और इक्विपमेंट की एक लिस्ट शेयर की जा रही है

Published23 Jun 2020, 11:33 AM IST
फिट
4 min read

दावा

सोशल मीडिया पर कुछ दवाइयों और इक्विपमेंट की एक लिस्ट वायरल हो रही है, जिसे कोविड मेडिकल किट के तौर पर घर में रखे जाने की बात कही गई है. लिस्ट के साथ ही कोविड के तीन स्टेज, रिकवरी टाइम का जिक्र किया गया है. वॉट्सएप पर फॉरवर्ड किए गए जा रहे मैसेज में टाटा डिजिटल हेल्थ का लिंक दिया गया है और इसे टाटा ग्रुप की एडवाइजरी बताया गया है.

वेबकूफ:जानिए वायरल हो रही COVID-19 मेडिकल किट वाले मैसेज की सच्चाई
वेबकूफ:जानिए वायरल हो रही COVID-19 मेडिकल किट वाले मैसेज की सच्चाई
वॉट्सएप पर फॉरवर्ड किए गए मैसेज का स्क्रीनशॉट
वेबकूफ:जानिए वायरल हो रही COVID-19 मेडिकल किट वाले मैसेज की सच्चाई
Surabhi Gupta
वेबकूफ:जानिए वायरल हो रही COVID-19 मेडिकल किट वाले मैसेज की सच्चाई
फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

COVID-19 किट वाले वायरल मैसेज में क्या लिखा है?

"घर पर जरूरी कोविड मेडिकल किट (टाटा ग्रुप की एडवाइजरी)

1. पैरासिटामॉल

2. माउथवॉश और गरारा करने के लिए Betadine

3. विटामिन C और D3

5. B कॉम्प्लेक्स

6. भाप लेने के लिए वेपर + कैप्सूल

7. ऑक्सीमीटर

8. ऑक्सीजन सिलेंडर (केवल इमरजेंसी के लिए)

9. आरोग्य सेतु ऐप

10. ब्रीदिंग एक्सरसाइज

कोविड के तीन चरण

1. केवल नाक में कोविड - रिकवरी का समय आधा दिन है. (भाप लेना), विटामिन C. आमतौर पर बुखार नहीं होता. लक्षण भी नहीं होते (एसिम्पटोमैटिक).

2. गले में कोविड- गले में खराश, रिकवरी का समय 1 दिन (गर्म पानी का गरारा, पीने के लिए गर्म पानी, अगर बुखार हो तो पैरासिटामॉल. विटामिन C, B कॉम्प्लेक्स. अगर गंभीर हो, तो एंटीबायोटिक.)

3. फेफड़े में कोविड- 4 से 5 दिन तक खांसी और सांस फूलना. (विटामिन C, B कॉम्प्लेक्स, गर्म पानी का गरारा, ऑक्सीमीटर, पैरासिटामॉल, सिलेंडर अगर हालत गंभीर हो, बहुत सारा लिक्विड गहरी सांस लेने की एक्सरसाइज.

इस स्टेज पर अस्पताल आना है:

ऑक्सीजन के स्तर की निगरानी करें. अगर यह 43 (सामान्य 98-100) के पास जाता है, तो आपको ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत होती है."

टाटा हेल्थ ने नहीं जारी की है COVID-19 किट की लिस्ट

टाटा हेल्थ ने इस तरह की कोई लिस्ट जारी करने से साफ इनकार किया है और ट्विटर पर एक यूजर को यही जवाब दिया कि इस तरह की एडवाइजरी टाटा हेल्थ की ओर से नहीं जारी की गई है.

वेबकूफ:जानिए वायरल हो रही COVID-19 मेडिकल किट वाले मैसेज की सच्चाई
ट्विटर स्क्रीनशॉट

मैसेज में बताई गई दवाइयां और उपकरण

पैरासिटामॉल बुखार की सामान्य दवा है, Betadin गार्गल एंटीबैक्टीरियल होता है, माउथवॉश ओरल हाइजीन के लिए होता है, विटामिन C और D3, B कॉम्प्लेक्स सप्लीमेंट हैं.

लिस्ट में जिन चीजों का जिक्र किया गया है, उनमें सामान्य दवाइयां शामिल हैं, लेकिन डॉक्टर खुद से कोई दवा लेने की सलाह नहीं देते हैं, यहां तक कि सप्लीमेंट्स भी बिना डॉक्टरी सलाह के नहीं लेना चाहिए.

ऑक्सीमीटर का इस्तेमाल पल्स रेट और ऑक्सीजन सैचुरेशन पता करने के लिए होता है. ऑक्सीजन सिलेंडर आमतौर पर घर में रखने के लिए नहीं होता है.

हाल ही में दिल्ली सरकार ने घोषणा की है कि होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना रोगियों को उनके घर में ऑक्सीमीटर मुहैया कराया जाएगा ताकि वो अपने ऑक्सीजन लेवल पर नजर रख सकें और जरूरत पड़ने पर ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था भी सरकार घर पर कराएगी.

इस मैसेज में कोरोना से रिकवरी को लेकर कुछ दावे किए गए हैं. फिट पहले ही गर्म पानी से गरारा, विटामिन C, ब्रीदिंग एक्सरसाइज जैसे दावों की पड़ताल कर चुका है.

वहीं इस तरह का कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है कि नाक में कोरोना से रिकवरी आधे दिन या गले में कोरोना से रिकवरी एक दिन में होती हो.

फोर्टिस एस्कॉर्ट्स फरीदाबाद में पल्मोनोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड और सीनियर कंसल्टेंट डॉ रवि शेखर झा कहते हैं कि यहां रिकवरी कहना सही नहीं है क्योंकि संक्रमण जहां भी हो रिकवर होने का वक्त एक ही होता है.

कुछ चीजों से हो रही तकलीफ (लक्षण) में राहत मिल सकती है, लेकिन वायरस 17 दिनों से पहले नहीं जाएगा.
डॉ रवि शेखर झा

मैसेज में बताया गया है कि ऑक्सीजन लेवल 43 के पास पहुंचने पर ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत होगी.

मेयो क्लीनिक के मुताबिक नॉर्मल पल्स ऑक्सीमीटर की रीडिंग 95 से 100 परसेंट के बीच होती है. 90 परसेंट से कम रीडिंग लो मानी जाती है.

डॉ झा बताते हैं कि 43 ऑक्सीजन लेवल बहुत ही कम होता है, इस पर मरीजों को वेंटिलेटर की जरूरत होती है.

यहां तक कि 92 से नीचे ऑक्सीजन लेवल होना खतरनाक है और ऐसे में हॉस्पिटल एडमिट होने की जरूरत होती है.
डॉ रवि शेखर झा

COVID-19 महामारी के दौर में जरूरत है कि हम किसी फर्जी मैसेज पर भरोसा करने की बजाए स्वास्थ्य एजेंसियों द्वारा बताए गए एहतियाती कदम उठाएं और डॉक्टर की सलाह का पालन करें.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!