ADVERTISEMENT

सेक्सॉल्व: ‘मेरी प्रेमिका है, लेकिन मैं एक लड़के को भी डेट कर रहा हूं'

Updated
सेक्सॉल्व: ‘मेरी प्रेमिका है, लेकिन मैं एक लड़के को भी डेट कर रहा हूं'

(चेतावनी: कुछ प्रश्न आपको विचलित कर सकते हैं. पाठक को पढ़ने से पहले विवेक का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है.)

सेक्सॉल्व समता के अधिकार के पैरोकार हरीश अय्यर का फिट पर सवाल-जवाब पर आधारित कॉलम है.

अगर आपके मन में सेक्स, सेक्स के तौर-तरीकों या रिलेशनशिप से जुड़े कोई सवाल हैं, और आपको किसी तरह की सलाह की जरूरत है, किसी सवाल का जवाब चाहते हैं या फिर यूं ही चाहते हैं कि कोई आपकी बात सुन ले- तो हरीश अय्यर को लिखें, और वह आपके लिए ‘सेक्सॉल्व’ करने की कोशिश करेंगे. आप sexolve@thequint.com पर मेल करें.

पेश हैं इस हफ्ते के सवाल-जवाबः

ADVERTISEMENT

‘मैं अकेली, उम्रदराज और सिंगल महिला हूं’

‘मुझे नहीं लगता कि मुझे फिर कभी प्यार मिलेगा.’

(फोटो: iStock)

डियर रेनबोमैन,

मैं एक कामकाजी महिला हूं, जिसकी उम्र बढ़ती जा रही है. मुझे चिंता घेर रही है क्योंकि मैं बूढ़ी हो रही हूं और सिंगल हूं. मैं सोचती हूं कि क्या मुझे पूरी जिंदगी ऐसे ही रहना होगा. मैं जब 19 साल की थी और मैंने अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में बताया तो मेरे परिवार ने मुझे घर से निकाल दिया.

मगर मेरी किस्मत में कुछ और लिखा था. हमारी रिलेशनशिप के सिर्फ 2 साल के अंदर मेरी गर्लफ्रेंड ने एक महिला के लिए मुझे छोड़ दिया. मैंने उसके लिए सब कुछ त्याग दिया था– अपना परिवार, अपनी सेविंग, अपने एजुकेशनल डाक्यूमेंट– सब कुछ.

वैसे मैं पहले से नौकरी कर रही थी और वही नौकरी जारी रखी और तरक्की की सीढ़ियां चढ़ती गई. फिर भी मुझे नहीं पता कि मुझे दोबारा कभी प्यार मिलेगा या नहीं. क्या मुझे कभी किसी और महिला के साथ रिलेशनशिप मिलेगी.

क्या मुंबई में ऐसी महिलाएं हैं, जो मेरे जैसी ही समलैंगिक हैं? मुझे बताएं. मुझे पता नहीं. क्या उनको 42 साल की महिला पसंद आएगी, मुझे नहीं पता. मुझे अकेलेपन में मौत से डर लगता है. मैं नहीं जानती कि मैं आपको क्यों लिख रही हूं, मुझे नहीं पता कि आप कोई असली इंसान हैं या रोबोट हैं. लेकिन मेरा ख्याल है कि मैं सिर्फ किसी ऐसे शख्स से बात करना चाहती हूं, जिसे मैं नहीं जानती और जो मेरी बात सुन ले.

टूटा दिल,

मुंबई

ADVERTISEMENT

डियर फ्रेंड,

मैं आपके साथ हूं, और आपकी बात सुन रहा हूं.

जब आप इसे पढ़ें, तो प्लीज मेरी आवाज की कल्पना करें और अपने मन में मेरे शब्दों और उनके मायनों को समझें. मैं एक वास्तविक इंसान हूं. कोई रोबोट नहीं और यह कोई आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रोग्राम नहीं है, जो आपके लिए लिख रहा है.

मैं फिर से कहता हूं, मैं आपको सुन रहा हूं. मैं आपकी बात सुन रहा हूं.

दुनिया में बहुत सी महिलाएं हैं, जो महिलाओं से प्यार करती हैं. लेकिन पितृसत्ता उनके प्यार को जाहिर होने से रोक देती है. ऐसे बहुत से परिवार हैं, जो कुबूल नहीं करते हैं. लेकिन प्यार होता है. कई महिलाएं महिलाओं से प्यार करती हैं.

बहुत से ऐसे लोग हैं जो ऐसे हालात से गुजर रहे हैं और किसी की तलाश में हैं जो उनकी नैया पार लगा दे.

प्लीज Umang को लिखें या उनके ट्विटर पर बताए नंबर पर कॉल करें.

ADVERTISEMENT

साथ ही क्या आपने Gaysifamily.com पर पढ़ा है, वहां समलैंगिक लोगों की कई कहानियां हैं, जो महिला के रूप में पहचान रखती हैं. आप उन्हें gaysifamily@gmail.com पर मेल कर सकती हैं और अब जब लॉकडाउन धीरे-धीरे खुल रहा है, तो मुंबई में उनके कार्यक्रम हो सकते हैं, जिनमें आप भी शामिल हो सकती हैं.

वैसे ये कोई डेटिंग साइट नहीं हैं, मुझे लगता है कि वहां गैरइरादतन ढंग से बिना सोचे प्यार हो जाता है. सवाल यह है कि जब प्यार सामने आता है तो क्या हम उस मौके पर मौजूद होते हैं और क्या हम उस प्यार को अपनाने को तैयार हैं, जिसके हम हकदार हैं.

मेल-जोल बढ़ाएं. लोगों से मिलना-जुलना करें. लोगों को लिखें, लोगों से बात करें. सोशल मीडिया और डेटिंग साइट्स पर मंजिल ढूंढें. चीजें बेहतर हो जाती हैं. इसके लिए कोशिश करनी होती है.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन

अंतिम बातः भावनात्मक बेचैनी बहुत ज्यादा होने पर काउंसलर से बात करने से हिचकिचाएं नहीं.

ADVERTISEMENT

‘मेरी प्रेमिका है, लेकिन मैं एक लड़के को भी डेट कर रहा हूं'

'मुझे समझ नहीं आ रहा कि क्या करना चाहिए.'

(प्रतीकात्मक फोटो: iStock)

डियर रेनबोमैन,

मैंने कुछ ऐसा किया है, जिसे मैं आपके सामने कबूल करना चाहता हूं या आपके साथ साझा करना चाहता हूं. मेरी एक स्थायी प्रेमिका है और हाल ही में मैं एक लड़के से भी प्रेम करने लगा हूं. मुझे लगता है कि हम दोनों एक दूसरे से खूबसूरती से जुड़े हैं. मेरी प्रेमिका और मैं ओपेन रिलेशनशिप में हैं. अब हो यह रहा है कि जब मैं लड़के के साथ होता हूं, तो गर्लफ्रेंड शिकायत करती है. जब मेरी गर्लफ्रेंड फोन करती है तो लड़का शिकायत करता है. मुझे समझ नहीं आ रहा कि क्या करना चाहिए. इसके अलावा बता दूं कि लड़की के साथ मेरा रिश्ता हमेशा के लिए है, और लड़का मुझे पसंद है, मगर मुझे उसके साथ खास नजदीकी महसूस नहीं होती. मुझे क्या करना चाहिए? क्या मुझे लड़के का ख्याल छोड़ देना चाहिए? मैं उससे कैसे छुटकारा पाऊं?

दो नाव की सवारी

ADVERTISEMENT

डियर दो नाव की सवारी

मुझे मेल लिखने के लिए शुक्रिया.

मैं जानता हूं कि दिल के मामलों को समझ पाना हमेशा आसान नहीं होता, लेकिन अगर सच्चाई और ईमानदारी रखते हैं तो बड़े से बड़े पहाड़ भी चढ़े जा सकते हैं.

ध्यान रखने वाली चीज सच्चाई और ईमानदारी है. जिस लड़के को आप डेट कर रहे हैं, उसे लेकर आप असमंजस में हैं. शायद वही आपके प्यार में गिरफ्तार है, और यह जानने के बावजूद कि आप एक प्रतिबद्ध रिलेशनशिप में हैं, वह सिर्फ उम्मीदों के सहारे है.

सिर्फ अपने दोनों पार्टनर्स को बता देने से आपकी जिम्मेदारी खत्म नहीं हो जाती. आप बस यह कहकर नहीं बच सकते हैं– “मैंने तुम्हें बता दिया था, मैंने कुछ नहीं छिपाया. फिर भी तुम्हें प्यार हो गया तो यह तुम्हारी गलती है.” आपको हर स्तर पर सच्चे होने की जिम्मेदारी लेनी होगा.

खुद जांचें– क्या जिस लड़के के साथ आप रिलेशनशिप में, उसका इस्तेमाल स्टेपनी की तरह कर रहे हैं– एक पहिया जिसे आप सिर्फ तब इस्तेमाल करते हैं, जब दूसरा काम नहीं कर रहा हो.

ADVERTISEMENT
किसी को भी प्राथमिकता के बजाय “विकल्प” के तौर पर इस्तेमाल किया जाना अच्छा नहीं लगता है. प्राथमिकताओं की लिस्ट में हमेशा दूसरे नंबर पर रहना अच्छा अहसास नहीं देता है.

अपने बॉयफ्रेंड के साथ ईमानदार रहें. उसे बताएं कि आप क्या महसूस करते हैं. इस बात को बार-बार दोहराएं. और अगर वह छोड़कर जाता है, तो उसे शांति से जाने दें.

मुझे यकीन है कि आप चीजों को सही करेंगे और लोगों को गलत रास्ते पर नहीं ले जाएंगे.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन

अंतिम बातः सच पहले तकलीफ देता है, फिर सुकून देता है.

ADVERTISEMENT

‘मुझे लगता है कि मुझे HIV है’

'मैंने असुरक्षित समलैंगिक सेक्स संबंध बनाया था'

(फोटो: iStock)

डियर रेनबोमैन,

मैंने असुरक्षित समलैंगिक सेक्स संबंध बनाया था, मुझे लगता है कि मुझे HIV है. क्या आप मेरी मदद कर सकते हैं?

फिक्रमंद पुरुष

डियर फिक्रमंद पुरुष,

मुझसे बात करने के लिए शुक्रिया.

यह कब हुआ? आप असुरक्षित सेक्स के संपर्क में आने के बाद शुरुआती 72 घंटों में PEP (पोस्ट एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस) ले सकते हैं. अगर आपने समय-सीमा पार कर ली है, तो प्लीज किसी लैब से टेस्ट करवाएं. PCR और ELISA टेस्ट हैं, जो आप किसी पैथॉलॉजिस्ट से करा सकते हैं. प्लीज टेस्ट करा लें.

मेरा सुझाव है कि आप हमसफर ट्रस्ट से www.Humsafar.org पर बात करें. मुझे नहीं पता कि आप किस शहर में रहते हैं. उनका दिल्ली, मुंबई में ऑफिस है और उनका देश भर में नेटवर्क है.

आप जान लें कि मेरे कई दोस्त हैं जो टेस्ट में HIV पॉजिटिव पाए गए हैं और वे नियमित रूप से ART (एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी) दवाएं लेकर सेहतमंद जिंदगी जी रहे हैं.

प्लीज टेस्ट करा लें और हमेशा सुरक्षित सेक्स किया करें. PREP के बारे में भी पढ़ें.

सादर,

रेनबोमैन

इंद्रधनुष आदमी

अंतिम बात: सुरक्षित रहें, टेस्ट कराएं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×