ADVERTISEMENT

International Yoga Day 2022: गर्भावस्था के दौरान योग के फायदे

योग गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक और मानसिक परिवर्तनों के साथ ढलने में महिलाओं की मदद करता है.

Published
फिट
2 min read
International Yoga Day 2022: गर्भावस्था के दौरान योग के फायदे
i

International Yoga Day 2022: हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है. योग दिवस मनाने का उद्देश्य लोगों को योग के फायदों और जीवन में इसके महत्व के बारे में शिक्षित करना है.

योग से लोगों को स्वास्थ्य सम्बंधी कई फायदे हो सकते हैं. गर्भवती महिलाओं के लिए योग के खास फायदे हैं.

गर्भवती महिलाओं के लिए योग के महत्व के बारे में पुणे, मणिपाल हॉस्पिटल में ऑब्सटीट्रिक्स एंड गायनेकोलॉजी की कंसल्टेंट, डॉ. रुषाली जाधव ने फिट हिंदी को विस्तार से बताया.

ADVERTISEMENT

डॉ. रुषाली जाधव ने कहा कि योग विभिन्न मुद्राओं में किया जा सकता है, जिनमें से कुछ अन्य के मुकाबले ज्यादा कठिन होते हैं. गर्भवती महिलाओं के लिए प्रीनेटल योग, हठ योग, और पुनर्वासी योग सर्वश्रेष्ठ विकल्प हैं.

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के योग की दिनचर्या में प्राणायाम, सामान्य स्ट्रेचिंग, सही मुद्रा, आराम करना और सुकून देने वाले व्यायाम शामिल होने चाहिए. किसी भी योग की शुरुआत करने से पहले अपने योग गुरू को अपनी गर्भावस्था की जानकारी अवश्य बता देनी चाहिए.

‘‘प्रीनेटल योग गर्भावस्था के दौरान एक फायदेमंद दिनचर्या है. गर्भावस्था के दौरान योग प्रसव की तैयारी की तरह है. इसके बहुआयामी फायदे हैं. इस व्यायाम से स्ट्रेचिंग, ध्यान केंद्रित करने और प्राणायाम को बढ़ावा मिलता है. विस्तृत अध्ययनों (detailed studies) के मुताबिक गर्भावस्था के दौरान योग करना सुरक्षित है और गर्भवती महिलाओं और उनके शिशुओं को इससे अनेक फायदे मिलते हैं."
डॉ. रुषाली जाधव
ADVERTISEMENT

गर्भावस्था के दौरान योग महिलाओं को क्या फायदा पहुंचाता है?

  • योग से आराम करने और गहरी सांस लेने की क्रिया सीखने में मदद मिलती है.

  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में अनेक परिवर्तन होते हैं. योग गर्भावस्था के दौरान होने वाले इन परिवर्तनों में ढलने में महिलाओं की मदद कर सकता है.

  • इससे महिलाओं को स्ट्रेच करने और अपने शरीर को मजबूत बनाने का सेहतमंद व सुरक्षित तरीका मिलता है. खासकर उनके निचले शरीर को विशेष फायदा होता है, और उनके बढ़ते गर्भ की प्रक्रिया में मदद मिलती है.

  • नियमित आधार पर योग करने वाली महिलाएं दर्द बढ़ने पर शरीर को खींचकर तनाव उत्पन्न नहीं करती और लेबर एवं प्रसव के लिए बेहतर रूप से तैयार होती हैं.

  • योग क्लास में योग की दिनचर्या द्वारा आप अन्य लोगों के संपर्क में आते हैं, जिससे स्वयं को तनावरहित बनाने में मदद मिलती है.

योग शुरू करने से पहले जानें ये जरुरी बातें:

  • प्रीनेटल योग करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लें.

  • प्राप्त किए जा सकने वाले लक्ष्य निर्धारित करें.

  • अपनी क्षमताओं के अनुरूप अपनी गति तय करें.

  • पर्याप्त मात्रा में पानी लेते रहें.

  • पेट या पीठ के बल न लेटें, आगे या पीछे की ओर न झुकें या शरीर को मोड़ने की कोशिश न करें, ताकि पेट पर अतिरिक्त दबाव न पड़े.

  • अपने शरीर का ध्यान रखें और आवश्यकता से अधिक यौगिक क्रियाएं न करें.

प्रीनेटल योग गर्भवती महिलाओं को प्रसव एवं मातृत्व की तैयारी के लिए एक सुरक्षित एवं सशक्त वातावरण प्रदान करता है. यदि गर्भ के दौरान योग करने के मामले में आपको अपने स्वास्थ्य के बारे में चिंता है, तो एक सर्टिफाईड इंस्ट्रक्टर की मदद लें, जो आपके और आपके शिशु के लिए स्ट्रेचिंग की सुरक्षित विधियों के बारे में आपका मार्गदर्शन कर सकें.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×