ADVERTISEMENTREMOVE AD

शुगर-फ्री प्रॉडक्ट्स में डाले जाने वाला Aspartame बन सकता कैंसर का कारण: WHO

WHO का कहना है कि एस्पार्टेम, पहले से तय डेली इंटेक लेवल में उपयोग के लिए सुरक्षित है.

Published
फिट
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

Cancer Risk: WHO की दो अलग-अलग शाखाओं का कहना है कि एस्पार्टेम (Aspartame) एक लोकप्रिय आर्टिफिशियल स्वीटनर है, जिसका व्यापक रूप से उपयोग डाइट सॉफ्ट ड्रिंक, शुगर-फ्री प्रॉडक्ट्स और यहां तक ​​कि दवाओं में भी किया जाता है- एक "संभावित कार्सिनोजन (possible carcinogen)" है.

हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि मूल्यांकन 'लिमिटेड एविडेंस' के आधार पर किया गया था और एस्पार्टेम पहले से तय डेली इंटेक लेवल में उपयोग के लिए सुरक्षित है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्या है मामला?

WHO ने शुक्रवार, 14 जुलाई को इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर (IARC) और फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गनाइजेशन (FAO) ज्वाइंट एक्सपर्ट कमेटी ऑन फूड एडिटिव्स (JECFA) द्वारा एस्पार्टेम को वर्गीकृत करते हुए एक संयुक्त बयान जारी किया. जिसमें कहा "संभवतः मनुष्यों के लिए कैंसर का खतरा" है.

मौजूदा तथ्यों को स्टडी करने के बाद, हेल्थ बोडीज ने कहा कि उन्हें मनुष्यों में कैंसर, खास कर के हेपेटोसेलुलर कार्सिनोमा (लिवर कैंसर का एक प्रकार) के सीमित प्रमाण (limited evidence) मिले हैं.

WHO की फूड एडिटिव्स पर जॉइंट एक्सपर्ट कमिटी (JECFA) ने निष्कर्ष निकाला कि "मूल्यांकित डेटा ने एस्पार्टेम के लिए शरीर के वजन के अनुसार 0 - 40 मिलीग्राम/किलोग्राम डेली इंटेक की पहले से तय की गई स्वीकार्य मात्रा को बदलने के लिए कोई पर्याप्त कारण नहीं दिखाया है".

क्या कहा WHO ने?

WHO के लोगों के अनुसार, यह रिव्यू एक संकेत है कि स्पष्ट तस्वीर पाने के लिए और अधिक स्टडी और जांच की आवश्यकता होगी.

पोषण और खाद्य सुरक्षा विभाग के निदेशक डॉ. फ्रांसेस्को ब्रांका ने डब्ल्यूएचओ के बयान में कहा, "एस्पार्टेम के आकलन से संकेत मिलता है कि आमतौर पर उपयोग की जाने वाली खुराक में सुरक्षा एक बड़ी चिंता का विषय नहीं है, लेकिन संभावित प्रभावों (potential effects) जिसके बारे में बताया गया है, उनकी स्टडी और जांच बेहतर ढंग से की जानी चाहिए".

क्या है एस्पार्टेम?

अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (FDA) के अनुसार, एस्पार्टेम टेबल शुगर यानी चीनी की तुलना में लगभग 200 गुना अधिक मीठा होता है.

यह इसे दूसरे आर्टिफिशियल स्वीटनर की तुलना में कम मीठा बनाता है, लेकिन एक ग्राम एस्पार्टेम की मिठास की तीव्रता लगभग 2 चम्मच चीनी जितनी होती है.

ध्यान देने वाली बातें ये हैं

डाइट सॉफ्ट ड्रिंक के एक कैन में आम तौर पर 200 या 300 मिलीग्राम एस्पार्टेम होता है. तो एक वयस्क जिसका वजन लगभग 70 किलोग्राम है, उसे एक्सेप्टेड डेली इंटेक (accepted daily intake) को पार करने के लिए हर दिन 9-14 कैन से अधिक पीना होगा. ऐसा तब जब वह एस्पार्टेम के दूसरे प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं. यही कारण है कि बच्चों के लिए आर्टिफिशियल स्वीटनर से बने डाइट ड्रिंक की सिफारिश नहीं की जाती है.

गौर करने की बात ये भी है कि आपको हमेशा इस बात की जानकारी नहीं होगी कि आप वास्तव में कितना एस्पार्टेम खा रहे हैं. आमतौर पर उपयोग किए जाने वाले प्रॉडक्ट्स में एस्पार्टेम जैसे आर्टिफिशियल स्वीटनर का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है, जितना आप सोचते हैं उससे कहीं अधिक.

डाइट सॉफ्ट ड्रिंक के अलावा इनका उपयोग इनमें में भी किया जाता है:

  • ब्रेकफास्ट सीरियल (Breakfast Cereal)

  • फ्लेवर्ड योगर्ट (Flavoured Yogurt)

  • आइसक्रीम (खास कर, शुगर-फ्री आइसक्रीम)

  • टूथपेस्ट

  • शुगर-फ्री च्युइंग गम

  • फलों के रस (Fruit Juices)

  • पैकेज्ड दूध से बने ड्रिंक

  • खांसी की दवाएं और चबाने वाले सप्लमेंट्स

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×