ADVERTISEMENTREMOVE AD

बिहार: अपने घायल बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंची बंदरिया, स्टूल पर बैठकर कराया इलाज

Rohtas Monkey Viral Video: इलाज के दौरान बंदरिया ने एक पल के लिए भी अपने बच्चे को खुद से अलग नहीं होने दिया

Published
वायरल
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

बिहार के रोहतास((Rohtas Viral Video) जिले से एक बड़ा ही मार्मिक मामला सामने आया है, जहां एक बंदरिया अपने घायल बच्चे को लेकर इलाज कराने के लिए अस्पताल पहुंच((Viral Video Of Injured Monkey Reached Hospital)) गई. सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल है. वीडियो में देखा जा सकता है कि बंदरिया एक स्टूल पर अपने बच्चे को सीने से लगाए बैठी है और डॉक्टर उसका इलाज कर रहा है. आमतौर पर बंदर को कोई छूने आए तो वो उग्र हो जाता है लेकिन इस बंदरिया ने आराम से स्टूल पर बैठकर अपना और अपने बच्चे का डॉक्टर से इलाज करवाया. बंदरिया के खुद क्लीनिक पहुंचकर इलाज कराने की यह घटना पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

स्टूल पर बैठकर इलाज कराया

डॉक्टर ने बताया कि जख्मी बंदरिया उनके क्लीनिक के सामने आकर बैठ गई. उसके बाद डॉक्टर को समझ में आ गया कि उसे मदद की जरूरत है. डॉक्टर ने हिम्मत करते हुए उसे अंदर बुलाया. बंदरिया तुरंत अपने बच्चे को लेकर क्लीनिक के अंदर आ गई और डॉक्टर के बगल में जहां मरीज बैठते हैं उस स्टूल पर जाकर बैठ गई. फिर चिकित्सक ने चोटिल बंदरिया के बच्चे को घाव को साफ करने के लिए मरहम पट्टी निकाला तो बंदरिया उसे एक टक निहारती रही. इलाज के दौरान बंदरिया ने एक पल के लिए भी अपने बच्चे को खुद से अलग नहीं होने दिया.

Rohtas Monkey Viral Video: इलाज के दौरान बंदरिया ने एक पल के लिए भी अपने बच्चे को खुद से अलग नहीं होने दिया

टॉर्च से बंदर की जांच करता डॉक्टर

वायरल वीडियो से स्क्रीनशॉट

बंदरिया को देखने के लिए लगी भीड़

बंदरिया की समझदारी को देख लोग हैरान रह गए. आस-पास के इलाके में इसकी चर्चा होने लगी. सभी लोग इस मां बंदरिया और उसके बच्चे की एक झलक पाने के लिए क्लीनिक का रूख करने लगे. इसी दौरान कुछ लोगों ने इसका वीडियो भी बनाया. डॉक्टर ने दोनों का इलाज किया और उसे बाहर भेज दिया. बाहर जाने के बाद लोगों ने उसकी तलाश की लेकिन वह नहीं मिली

Input- Tanweer Alam

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×