ADVERTISEMENTREMOVE AD

अरविंद केजरीवाल को झटका, ED की अर्जी पर कोर्ट ने 17 फरवरी के लिए जारी किया समन

Delhi Liquor Policy Money Laundering Case: मामले में मुख्यमंत्री को अब तक पांच बार समन भेज तलब किया जा चुका है.

Published
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

दिल्ली शराब नीति मामले (Delhi Liquor Policy Case) में दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को 17 फरवरी के लिए समन जारी किया है.

बता दें कि शराब नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा जारी समन का पालन नहीं करने पर ED ने मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया था.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

कोर्ट के आदेश के बाद आम आदमी पार्टी की प्रतिक्रिया आई है. पार्टी की ओर से कहा गया है कि वो अभी कोर्ट के आदेश का अध्ययन कर रहे हैं.

"हम अदालत के आदेश का अध्ययन कर रहे हैं और कानून के अनुसार कार्रवाई करेंगे. हम अदालत को सूचित करेंगे कि प्रवर्तन निदेशालय के सभी समन कैसे अवैध थे"
आम आदमी पार्टी

ED ने अब तक भेजा है पांच बार समन

इस मामले में बुधवार, 7 फरवरी को राउज एवेन्यू कोर्ट ने केजरीवाल के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था. जांच एजेंसी ने 3 फरवरी को केजरीवाल के खिलाफ अदालत का रुख किया था.

मामले में मुख्यमंत्री केजरीवाल को अब तक पांच बार समन भेज तलब किया जा चुका है. लेकिन वो अब तक केंद्रीय जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए हैं.

शिकायत अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट दिव्या मल्होत्रा के समक्ष दायर की गई, जिन्होंने मामले की सुनवाई 7 फरवरी को तय की थी. जिसके बाद आज कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है.

सुनवाई के दौरान, सरकारी वकील ने अदालत को सूचित किया कि आगे कोई दलील देने की जरूरत नहीं है. केजरीवाल पिछले चार महीनों में पहले के चार समनों के बावजूद एजेंसी के सामने पेश होने में विफल रहे हैं, उन्हें अवैध बताया गया है.

सीएम ने पहले प्रवर्तन निदेशालय को एक पत्र लिखकर समन को "अवैध और राजनीति से प्रेरित" बताया था. उन्होंने आरोप लगाया कि उनका उद्देश्य उन्हें चुनाव प्रचार करने से रोकना था. इस बीच, आम आदमी पार्टी (AAP) ने दावा किया था कि प्रधानमंत्री मोदी केजरीवाल सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×