ADVERTISEMENT

CDS बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश खराब मौसम की वजह से ही हुआ था: सूत्र

हादसा मानवीय त्रुटि या तकनीकी खराबी के कारण हुआ होगा, इस बात को जांच में नकार दिया गया है.

Published
भारत
2 min read
CDS बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश खराब मौसम की वजह से ही हुआ था: सूत्र
i

सीडीएस जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) का हेलिकॉप्टर क्रैश खराब मौसम की वजह से हुआ था, जिसमें 13 और अधिकारियों और भी मौत हुई थी. इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि हादसा खराब मौसम की वजह से हुआ था.

यहां तक ​​​​कि आईएएफ के शीर्ष अधिकारियों ने बुधवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) को 8 दिसंबर की घटना की जांच की रिपोर्ट सौंपी

ADVERTISEMENT
एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि हादसा मानवीय गलती (Human Error) या तकनीकी खराबी के कारण हुआ या फिर हेलिकॉप्टर के अंदर कोई तोड़फोड़ के कारणों से हुआ होगा इस बात को जांच में नकार दिया गया है.

हालांकि जांच के निष्कर्षों पर अभी तक कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है. एक्सप्रेस को सूत्रों ने बताया है कि जांच में पाया गया कि जनरल रावत और अन्य को ले जा रहे एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर को अचानक खराब मौसम का सामना करना पड़ा, जिसकी वजह से यह तमिलनाडु के कुन्नूर के एक जंगल में क्रैश हो गया.

सूत्रों के मुताबिक यह क्रैश CIFT यानी कंट्रोल फ्लाइट इंटु टिरेन (Controlled Flight into Terrain) की स्थिति में हुआ है. मौसम के खराब होने की वजह से हेलिकॉप्टर एक ऐसी स्थिति पहुंच जाता है जिसमें विमान को कंट्रोल करने वाला पायलट स्थिति को ज्यादा कुछ भांप नहीं पाता और दुर्घटना का शिकार हो जाता है. दुनियाभर में CIFT की वजह कई हेलिकॉप्टर क्रैश हुए हैं.

बता दें कि इस हादसे के एक दिन बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस घटना की त्रि-सेवा कोर्ट ऑफ इंक्वायरी की घोषणा की थी. जिसका नेतृत्व एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह ने किया जो प्रशिक्षण कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ हैं साथ ही नौसेना के एक कमोडोर स्तर के हेलिकॉप्टर पायलट में और एक ब्रिगेडियर स्तर के वरिष्ठ सेना अधिकारी भी थे.

इसके अलावा इस टीम ने दुर्घटना स्थल से बरामद हुए ब्लैक बॉक्स की जांच भी की जिसमें फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×