ADVERTISEMENT

शुगर लेवल बढ़ रहा था, तो डॉक्टरों ने लालू को आम खाने से रोका

लालू यादव का रांची के रिम्स में इलाज चल रहा है

Published
भारत
2 min read
शुगर लेवल बढ़ रहा था, तो डॉक्टरों ने लालू को आम खाने से रोका
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

रांची के रिम्स में इलाज करा रहे आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का ब्लड शुगर बढ़ने पर डॉक्टरों ने उनके मालदा आम खाने पर रोक लगा दी है.

दरअसल, आम के शौकीन लालू को रिम्स के डॉक्टर ने इस शर्त पर आम खाने की इजाजत दी थी कि वो एक दिन में एक मालदा आम ही खाएंगे. लेकिन लालू यादव ने डॉक्टर की सलाह नहीं मानी. आम के शौकीन लालू यादव हर दिन 2 से 3 मालदा आम खा रहे थे, जिसके चलते लालू का ब्लड शुगर बढ़ गया. ब्लड शुगर बढ़ने के बाद लालू का इलाज कर रहे डॉक्टर ने उनके आम खाने पर रोक लगा दी है.

ADVERTISEMENT

लालू प्रसाद यादव की थाली से बुधवार से आम गायब हो जाएंगे. लालू रोजाना मालदा आम खा रहे थे, जिन्होंने उनके शुगर को बढ़ा दिया है.

इस हफ्ते, हमने लालू जी के टेस्ट किए. उनके लिवर और किडनी ठीक हैं. जब हमने उन्हें आम खाने की इजाजत दी, तो उनका इनसुलिन बढ़ गया. उन्हें केवल एक आम खाने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने ज्यादा खा लिए.
डीके झा, डॉक्टर, रिम्स झांसी

डॉक्टर ने बताया कि उन्हें एक महीने में रोजाना एक मालदा आम खाने की इजाजत दी गई थी, लेकिन उन्होंने ये कोटा 8-10 दिनों में ही पूरा कर दिया. डीके झा ने कहा-

‘हमने लालू को को एक दिन में एक मालदा आम के हिसाब से महीने में 30 आम खाने की इजाजत दी थी. लेकिन उन्होंने 30 आम खाने का कोटा 8-10 दिन में ही पूरा कर लिया, जिसके चलते उनका ब्लड शुगर लेवल बढ़ गया. इसलिए हम लोगों ने उनके आम खाने पर रोक लगा दी है. वो अब आम नहीं खा रहे हैं.’ 

डायबिटीज का इलाज करवा रहे हैं लालू

लालू यादव रिम्स में डायबिटीज, किडनी में पथरी, हाइपर यूरिसीमिया और पेरेनियल इंफेक्शन जैसी बीमारियों का इलाज करा रहे हैं.

चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू यादव मार्च से अस्पताल में भर्ती हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×