‘क्विंट के खिलाफ I-T का एक्‍शन मीडिया को दबाने की शर्मनाक कोशिश’
‘क्विंट के खिलाफ I-T का एक्‍शन मीडिया को दबाने की शर्मनाक कोशिश’
(फोटो: PTI)

‘क्विंट के खिलाफ I-T का एक्‍शन मीडिया को दबाने की शर्मनाक कोशिश’

क्विंटिलियन मीडिया के फाउंडर राघव बहल के घर और क्विंट दफ्तर में इनकम टैक्स अधिकारियों के ऑपरेशन की चौतरफा आलोचना हो रही है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे मीडिया को डराने की कोशिश बताया, तो पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने कहा कि इस तरह का कदम इस बात का सबूत है कि क्विंट सही काम कर रहा है.

ये भी पढ़ें

पत्रकारों ने कहा, द क्विंट के खिलाफ आईटी सर्वे मीडिया पर हमला

मीडिया को कुचलने की कोशिश कर रही है सरकार: राहुल गांधी

द क्‍विंट पर आयकर विभाग की कार्रवाई पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा:

‘’वे (बीजेपी) कुचलने के लिए रेड करेंगे, परेशान करेंगे, हमले करेंगे. ये उनका एजेंडा है...सरकार मीडिया को कुचलने की कोशिश कर रही है.’’

कुछ ही लोग सरकार की आलोचना करने से नहीं डरते: यशवंत सिन्‍हा

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्‍हा ने द क्‍विंट के खिलाफ सरकार की कार्रवाई पर कहा:

‘’मीडिया में चंद लोग ही ऐसे बचे हैं, जो सरकार की आलोचना करने से डरते नहीं हैं. ऐसे लोगों में राघव बहल एक हैं. आज उनके घर और दफ्तर पर रेड हुआ. इसलिए, क्‍योंकि वो सरकार की चमचागिरी नहीं कर रहे हैं.’’

कार्रवाई बेहद आपत्तिजनक : अरुण शौरी

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने क्‍विंट के खिलाफ सरकारी कार्रवाई को बेहद आपत्त‍िजनक बताया है.

‘’क्‍विंट के खिलाफ कार्रवाई बेहद आपत्तिजनक है. मैं राघव बहल को करीब 25 बरस से जानता हूं. मुझे नहीं लगता कि मीडिया में उनके जैसा प्रोफेशनल और उच्‍च मानदंड पर चलने वाला कोई दूसरा होगा. इस तरह का कदम इस बात का सबूत है कि क्विंट सही काम कर रहा है.’’

सरकार ने अघोषित आपातकाल लागू किया: कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सुरजेवाला ने इस बारे में दो-टूक टिप्‍पणी की:

‘’मैं पत्रकारिता की निडर भावना के लिए क्विंट की पूरी टीम को सलाम करता हूं. मुझे लगता है कि देश के इतिहास में आयकर विभाग, ईडी और सीबीआई का दुरुपयोग स्वतंत्र आवाज और असंतोष की आवाज को डराने और दबाने के लिए इस तरीके से कभी नहीं किया गया है. लेकिन मैं मोदी सरकार को चेताना चाहता हूं. आपने अघोषित आपातकाल लागू किया है.’’  

द क्‍विंट पर I-T के छापे क्‍यों: योगेंद्र यादव

क्विंट पर IT रेड साबित करती है कि सरकार निरंकुश हो चुकी है: सुधींद्र भदौरिया, बीएसपी

BSP के वरिष्ठ नेता सुधींद्र भदौरिया ने कहा कि ऐसे हालात उन्होंने 1975 में देखे थे. भदौरिया का कहना है कि सरकार निरकुंश हो चुकी है वो न सिर्फ अपने विपक्षी पार्टियों पर हमले कर रही है साथ ही लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को भी नहीं छोड़ रही है.

मीडिया की स्वतंत्रता सबसे बुरे दौर में: अखिलेश यादव

सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने मीडिया पर छापे को शर्मनाक करार दिया है.

ये भी पढ़ें

क्विंट पर सरकारी एक्शन की चौतरफा आलोचना: I-T सर्च और सर्वे जारी

(यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)

Follow our भारत section for more stories.

    वीडियो