ADVERTISEMENTREMOVE AD

मार्च के आखिर तक महाराष्ट्र और दिल्ली में कम हो सकती है तीसरी लहर- डॉ पांडा,ICMR

ICMR की तरफ से कोरोना को लेकर राहत भरी जानकारी

Published
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

देश-दुनिया में कहर बरपा रहे कोरोना ने सबको हिला कर रख दिया है, चाहे बात जिंदगी की हो या रोजगार की कोरोना ने सब तहस-नहस कर दिया है. लेकिन अब इस महामारी से फौरी राहत की उम्मीद नजर आ रही है.

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के अतिरिक्त महानिदेशक डॉ समीरन पांडा ने शुक्रवार को जानकारी दी कि फरवरी के अंत तक महाराष्ट्र, दिल्ली, और पश्चिम बंगाल में Covid-19 की तीसरी लहर के कम होने की संभावना है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD
समीरन ने कहा कि "इन राज्यों में कोरोना मामलों के तेजी से आए उछाल में फरवरी के अंत तक कमी आ जाएगी, और संभावना जताई जा रही है की मार्च के अंत तक देश में भी कोरोना के मामलों में कमी आएगी "जो राहत का संदेश है.

एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ चंद्रकांत लहरिया ने भी ICMR की बात पर मोहर लगाते हुए TOI को बताया कि आने वाले तीन-चार हफ्तों में देश भर में कोरोना की तीसरी लहर के खत्म होने की उम्मीद है.

लहरिया ने जानकारी दी कि "100 में से 90% ओमिक्रोन के मामले हावी हैं और डेल्टा सिर्फ 10% ही दिख रहा है, आए दिन कोरोना के मामलों में तेजी और कमी नजर आ रही है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

डॉ समीरन पांडा ने बताया कि महामारी विज्ञान बताता है कि महामारी अपने अंत की ओर बढ़ रही है. उन्होंने कहा "अगर भविष्य में SARS-coV-2 की चिंता नए वैरिएंट के तौर पर नहीं आती तो हालात नियंत्रित हो सकते हैं ".

ADVERTISEMENTREMOVE AD

गौरतलब है कि गुरुवार की आई केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट से पता चला है कि महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है. राज्य के विशेषज्ञों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि राज्यों के अधिकतर जिलों में भी कोरोना की चाल में कमी होनी शुरू हो गई है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×