ADVERTISEMENT

PNB घोटाला:क्या पत्नी के जरिए हनी ट्रैप का खेल खेलता था नीरव मोदी?

पीएनबी घोटाले में नीरव मोदी को लेकर ये अब तक का सबसे बड़ा खुलासा हो सकता है.

Updated
भारत
3 min read
PNB घोटाला:क्या पत्नी के जरिए हनी ट्रैप का खेल खेलता था नीरव मोदी?
i

पीएनबी घोटाले में नीरव मोदी को लेकर ये अब तक का सबसे बड़ा खुलासा हो सकता है. अमर उजाला और दूसरी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नीरव मोदी अपनी पत्नी एमी मोदी के जरिए हनी ट्रैप का खेल खेलता था और कई बैंक अधिकारियों को उसने अपने जाल में फंसा रखा था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तफ्तीश के दौरान कुछ मॉडल्स का जिक्र भी आया है जिनके जरिए बैंक के उच्च अधिकारियों को घोटाले में शामिल किया गया था. सूत्रों ने नीरव की पत्नी एमी मोदी के बॉलीवुड कनेक्शन का भी खुलासा किया है.

अपनी पत्नी एमी मोदी के साथ नीरव
(फोटो: Twitter/Facebook)
ADVERTISEMENT

नीरव की पत्नी अमेरिकन सिटीजन हैं. नीरव मोदी फाउंडेशन की वेबसाइट के मुताबिक एमी उसकी ट्रस्टी हैं. नीरव की ऑनलाइन प्रोफाइल के मुताबिक ऐमी 'नीरव मोदी स्कॉलरशिप फॉर एक्सेलेंस' के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार थीं, जिसके माध्यम से हर साल 250 छात्रों को सहयोग दिया जाता था.

दाएं में नीरव मोदी की पत्नी एमी मोदी
(फोटो: Twitter)

यह भी पढ़ें: PNB घोटाला: गिरफ्तार अफसरों का खुलासा- हर LoU पर मिलता था कमीशन

आपको बता दें कि सीबीआई ने शनिवार, 17 फरवरी को तीन पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों को अपनी गिरफ्त में लिया. उनके नाम हैं गोकुलनाथ शेट्टी, मनोज खरात और हेमंत भट्ट. इन तीनों अधिकारियों पर 11,400 करोड़ के घोटाले में शामिल होने का आरोप है. हिरासत में लिए गए इन अधिकारियों ने खुलासा किया है कि हर एक लेटर ऑफ अंडरटेकिंग यानी LoU के लिए बैंक के अधिकारियों को कुछ कमीशन मिलता था. एंग्रिमेंट की राशि जितनी बड़ी होती थी, कमीशन भी उस हिसाब से ही होता था और जो कमीशन आता था, वो बैंक के हर एक अधिकारी के बीच बराबर-बराबर बंटता था. पीएनबी द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, इस घोटाले में 63 दिनों में ही 143 एलओयू जारी कर दिए गए थे.

स्टाफ के और ज्यादा मेंबर्स को लेकर सीबीआई तेजी से जांच कर रही है, साथ ही ANI न्यूज एंजेसी की रिपोर्ट के मुताबिक गिरफ्तार हुए अधिकारी जांच में मदद नहीं कर रहे हैं.

( क्विंट और बिटगिविंग ने मिलकर 8 महीने की रेप पीड़ित बच्ची के लिए एक क्राउडफंडिंग कैंपेन लॉन्च किया है. 28 जनवरी 2018 को बच्ची का रेप किया गया था. उसे हमने छुटकी नाम दिया है. जब घर में कोई नहीं था,तब 28 साल के चचेरे भाई ने ही छुटकी के साथ रेप किया. तीन  सर्जरी के बाद छुटकी को एम्स से छुट्टी मिल गई है लेकिन उसे अभी और इलाज की जरूरत है ताकि वो पूरी तरह ठीक हो सके. छुटकी के माता-पिता की आमदनी काफी कम है, साथ ही उन्होंने काम पर जाना भी फिलहाल छोड़ रखा है ताकि उसकी देखभाल कर सकें. आप छुटकी के इलाज के खर्च और उसका आने वाला कल संवारने में मदद कर सकते हैं. आपकी छोटी मदद भी बड़ी समझिए. डोनेशन के लिए यहां क्लिक करें. )

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और india के लिए ब्राउज़ करें

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×