ADVERTISEMENTREMOVE AD

ओमिक्रॉन का पता लगाने वाली डॉक्टर ने चेताया- भारत में भी जल्द बढ़ेंगे केस

बिना वैक्सीन वाले लोग संभावित रूप से इस वायरस को 100 प्रतिशत फैलाएंगे.

Published
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) की पहचान करने वाली डॉक्टर एंजेलिक कोएत्ज़ी (Dr. Angelique Coetzee) ने कहा कि भारत में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के मामलों में बढ़ोतरी देखी जाएगी. लेकिन ज्यादातर लोगों पर इस वैरिएंट का मामूली असर होने की उम्मीद है.

डॉ एंजेलिक कोएत्ज़ी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि मौजूदा कोविड -19 टीके ओमिक्रॉन वेरिएंट के असर को कम करने में बहुत मदद करेंगे, यह चेतावनी देते हुए कि बिना वैक्सीन लगवाए हुए लोगों को इसका 100 प्रतिशत रिस्क है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

जल्द खत्म नहीं होगा कोरोना

डॉ एंजेलिक कोएत्ज़ी ने कहा कि टीकाकरण वाले व्यक्ति या वह लोग जिनको पहले कोरोना वायरस होने की वजह से जिनकी इम्युनिटी मजबूत है वह लोग वायरस के स्ट्रेन को कम लोगों तक फैलाएंगे. लेकिन बिना वैक्सीन वाले लोग संभावित रूप से वायरस को 100 प्रतिशत फैलाएंगे.

न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार कोएत्ज़ी जो दक्षिण अफ़्रीकी मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष भी हैं, ने इस राय को खारिज कर दिया कि कोविड -19 तुलनात्मक रूप से कमजोर ओमिक्रॉन वैरिएंट के साथ खत्म हो रहा है. उन्होंने कहा कि इस जारी महामारी को जल्द खत्म करना मुश्किल होगा.

बच्चो में वायरस के ट्रांसमिशन को लेकर न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार डॉ एंजेलिक कोएत्ज़ी ने कहा,

"अभी फिलहाल ओमिक्रॉन का खतरा नहीं है, लेकिन यह तेजी से फैल रहा है, उच्च संक्रामकता दर के साथ, लेकिन अस्पतालों में कम गंभीर मामले हैं. इस वायरस का एकमात्र उद्देश्य गर्म शरीर को संक्रमित करना और जीवित रहना है. और हां, बच्चे भी इससे संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन वे औसतन पांच-छह दिनों में ठीक हो रहे हैं."
डॉ एंजेलिक कोएत्ज़ी

देश में ओमिक्रॉन के मामलें लगातार बढ़ रहे है. आज 25 दिसम्बर तक देश में ओमिक्रॉन के कुल 415 मामले दर्ज किए गए. कई राज्यों में नाईट कर्फ्यू लौट आया है. IIT कानपुर के अनुसार फरवरी में कोरोना की तीसरी लहर आने का अनुमान है जिसमे तकरीबन हर रोज एक से डेढ़ लाख तक कोरोना के केस आने की आशंका है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×