ADVERTISEMENT

प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी में,जिस महिला की साड़ी खींची गई उससे कहा-डरना मत

ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान उम्मीद्वार ऋतु सिंह की प्रस्तावक की साड़ी खींचने की कोशिश की गई थी.

Updated
भारत
2 min read

वीडियो प्रोड्यूसर/एडिटर: मौसमी सिंह

उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव (UP Block Pramukh Election) के दौरान हिंसा और महिलाओं की साड़ी खींचने और उनके साथ अभद्रता की घटना सामने आई थी. अब उस घटना के बाद उत्पीड़न का शिकार हुई महिलाओं से मिलने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) लखीमपुर खीरी पहुंची हैं.

प्रियंका गांधी ने लखीमपुर के पसगंवा गांव में समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार रितु सिंह और उनकी प्रस्तावक अनीता यादव से मुलाकात की.

ADVERTISEMENT
प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी में,जिस महिला की साड़ी खींची गई उससे कहा-डरना मत

(फोटो: @INCUttarPradesh)

प्रियंका गांधी ने दोनों से मुलाकात कर कहा, "डरना नहीं है, हम आपके साथ हैं." अनीता से मुलाकात पर प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं महिला होने के नाते अनीता से मिलने आई हूं. यहां किसी दल के नाते नहीं आई.

प्रियंका ने आगे कहा,

"लोकतंत्र का चीरहरण करने वाले बीजेपी के गुंडे कान खोलकर सुन लें, महिलाएं प्रधान, ब्लॉक प्रमुख, विधायक, सांसद, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री बनेंगी और उनपर अत्याचार करने वालों को शह देने वाली सरकार को शिकस्त देंगी. पंचायत चुनाव में बीजेपी द्वारा की गयी हिंसा की शिकार अपनी सभी बहनों, नागरिकों के न्याय के लिए मैं राज्य चुनाव आयोग को पत्र लिखूंगी."
प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी में,जिस महिला की साड़ी खींची गई उससे कहा-डरना मत

(फोटो: @INCUttarPradesh)

रितु सिंह और उनकी प्रस्तावक अनीता यादव ने भी प्रियंका से चुनाव के दौरान हुए बदसलूकी के बारे में बताया.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, उत्तर प्रदेश ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान लखीमपुर खीरी के पसगवां में क्षेत्र पंचायत प्रमुख के नामांकन के दौरान पहले तो समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार रितु सिंह की प्रस्तवाक अनीता यादव का एक वीडियो सामने आया जिसमें दो लोग उनकी साड़ी पकड़कर उन्हें खींच रहे हैं. उसके बाद एक और वीडियो सामने आया जिसमें कई लोग रितु सिंह को नामंकन करने से रोक रहे थे, जिसमें उनके साथ भी अभद्रता की गई और साड़ी खींचने का मामला सामने आया.

इस मामले में 6 पुलिस वाले सस्पेंड किए गए हैं. पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ), पसगवां थाना प्रभारी (एसएचओ), चौकी प्रभारी एक इंस्पेक्टर और तीन सब-इंस्पेक्टर समेत कुल छह पुलिसवालों को निलंबित किया गया है. साथ ही इस मामले में एक शख्स की गिरफ्तारी की भी खबर है.

बता दें कि साल 2022 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव है. चुनाव को देखते हुए कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी यूपी के तिन दिवसीय दौरे पर हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×