ADVERTISEMENTREMOVE AD

सरिस्का टाइगर रिजर्व में लगी आग,सेना के हेलिकॉप्टर से ली जा रही मदद,खतरे में बाघ

जिस इलाके में आग लगी उस इलाके में दो बाघों की आवाजाही है.

Updated
भारत
2 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा

राजस्थान के अलवर के बलेटा गांव में सरिस्का टाइगर रिजर्व (Sariska Tiger Reserve) से सटे जंगल के क्षेत्र में भीषण आग लग गई है. इससे पहले सरिस्का के जंगलों में पहली बार ये आग रविवार को लगी थी, 12 घंटे की मशक्कत के बाद वन अधिकारियों, रिजर्व व जिला प्रशासन व स्थानीय लोगों ने आग पर काबू पा लिया था. लेकिन एक बार फिर आग लग गई है और इस बार आग पर काबू पाना मुश्किल हो रहा है. इस टाइगर रिजर्व में कई बाघ हैं, ऐसे में आग से इस इलाके में घूम रहे बाघों पर खतरा मंडरा रहा है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सेना से मांगी गई मदद, हेलिकॉप्टर से आग बुझाने की कोशिश

बेकाबू आग को देखते हुए सरिस्का प्रशासन ने सेना से मदद मांगी हैं. आग बुझाने के लिए हेलिकॉप्टर मंगवाये जा रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को दो हेलिकॉप्टर अलवर पहुंचेंगे और सिलीसेढ झील से पानी एयरलिफ्ट कर प्रभावित इलाको में ऊपर से पानी डालकर आग बुझाने की कोशिश की जाएगी.

जिस इलाके में लगी है आग, वहां घूमने निकले थे बाघ

गौरतलब है कि जिस इलाके में आग लगी उस इलाके में दो बाघों की आवाजाही है. इसके अलावा, यह क्षेत्र बड़ी संख्या में तेंदुओं और दूसरे जंगली जानवरों का निवास स्थान है. बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में बाघिन ST-17 और उसके हाल में जन्मे दो शावक भी घूम रहे हैं. दरअसल, आग लगने की वजह से जानवर पहाड़ी इलाके से गांव की तरफ आ रहे हैं, जिसे देखते हुए अलवर के पृथ्वीपुरा, बालेटा, भाट्याला गांव, नया गांव और प्रतापपुरा में पुलिस की ओर से ऐलान कराया जा रहा है और ग्रामीणों को सतर्क रहने को कहा है.

0

न्यूज 18 के मुताबिक सरिस्का के वन संरक्षक और क्षेत्र निदेशक आरएन मीणा ने बताया कि सरिस्का के अकबरपुर रेंज के पृथ्वीपुरा बालेटा के नाका के आसपास के सूखी घास और पौधों में आग लग गई थी, आग किस वजह से लगी ये पता नहीं चल सका है. अधिकारियों के मुताबिक आग जंगल के करीब 10 किमी के इलाके में में फैल गई है.

ADVERTISEMENT

इस बीच प्रशासन ने वन क्षेत्र के आसपास के ग्रामीणों को गांव खाली करने को कहा है और साथ ही उन्हें वन्य जीवों के संभावित विचरण को देखते हुए सावधान रहने को कहा गया है

आग का तांडव 36 घंटे से ज्यादा समय से जारी है

आग का तांडव 36 घंटे से ज्यादा समय से जारी है. इस इलाके में कई बाघ  घूम रहे हैं.वन विभाग के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि आग पांच से आठ वर्ग किलोमीटर में फैल चुकी है और प्रभावित इलाके के आसपास बाघ विचरण कर सकते हैं.उन्होंने कहा कि दो दिन पहले लगी आग ने सोमवार को भीषण रूप ले लिया। उन्होंने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए सेना के दो हेलीकॉप्टर की मदद ली गई.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×