ADVERTISEMENTREMOVE AD

"आहस्ट्रेलिया, 'मोदी मैजिक' दब गया"- इंडिया की हार पर क्या बोली भारतीय मीडिया?

Published
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

ICC वर्ल्ड कप 2023 के फाइनल (World Cup Final 2023) मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 6 विकेट से हरा दिया. इस हार से विश्व चैपियन बनने का सपना भारत का टूट गया. इस हार को लेकर विदेशी मीडिया में खूब छपा है. किसी ने इसे अजेय भारत का फाइनल में क्रैश होना बताया तो किसी ने कहा-हेड ने भारत का दिल तोड़ दिया लेकिन भारत की इस हार से इंडियन मीडिया में क्या छपा आइए जानते हैं...

ADVERTISEMENTREMOVE AD

"भारत की पिच चाल उल्टी पड़ी"

इंडियन एक्सप्रेस ने वर्ल्ड कप 2023 के फाइनल में भारत की हार की पर लिखा-हेड ने तोड़ा दिल. वहीं, वेबसाइट ने इसे भारत की चाल उल्टी पड़ना करार दिया.

इंडियन एक्सप्रेस

(फोटो: क्विंट हिंदी)

इंडियन एक्सप्रेस ने वर्ल्ड कप 2023 के फाइनल में भारत की हार की खबरों को प्रमुखता से जगह दी है. न्यूज वेबसाइट ने लिखा "भारत ने धीमा ट्रैक चुना था, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने स्टार-स्टडेड बैटिंग लाइन अप को दबाने के लिए कटर, धीमी बाउंसर, नियमित बाउंसर, बैक ऑफ लेंथ पर सीम-अप का बहुत प्रभावी ढंग से इस्तेमाल किया." बेवसाइट ने आगे लिखा-रोहित शर्मा ने जीतने के लिए अपनी बुद्धि पर खेला लेकिन फाइनल में पिछड़ गए.

दैनिक भास्कर

दैनिक भास्कर ने एक खबर ऑस्ट्रेलिया के जीतने पर और दूसरी भारत के अब तक परफॉर्मेंस पर खबर लगाई है. दैनिक भास्कर ने लिखा-आहस्ट्रेलिया, 20 साल बाद फिर हमारी उम्मीदें तोड़ीं.

दैनिक भास्कर

अखबार ने फ्रंट पेज पर दूसरी खबर इंडिया की हौसला आफजाई के लिए लगाई है. अखबार ने लिखा- हमें गर्व है...46 दिन के इस वर्ल्ड कप में 45 दिन हमारी ही टीम 'चैंपियन' रही.

'मोदी मैजिक' दब गया-द टेलीग्राफ

द टेलीग्राफ ने भारतीय बैटिंग को विफल बताया. उन्होंने लिखा "विश्व कप फाइनल: भारतीय बल्लेबाजी विफल रही, ऑस्ट्रेलिया ने रोहित की टीम को रिकॉर्ड विकेट से हराया."

न्यूज वेबसाइट ने लिखा-इसका अंत ऐसे नहीं होना चाहिए था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कमिंस को ट्रॉफी सौंपने से बहुत पहले, 93,000 से अधिक की भीड़ ने स्टेडियम छोड़ना शुरू कर दिया था.

द टेलीग्राफ

उन्होंने एक और खबर लगाई. जिसमें उन्होंने लिखा-"नरेंद्र मोदी स्टेडियम में, 'मोदी मैजिक' अप्रत्याशित ऑस्ट्रेलियाई जीत के बीच दब गया."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×