ADVERTISEMENT

Khatu Shyam मंदिर में भगदड़, तीन महिलाओं की मौत, कई घायल

Khatu Shyam Mandir Stampede: घायल महिलाओं को गंभीर हालत में इलाज के लिए जयपुर रेफर किया गया.

Updated
न्यूज
2 min read
Khatu Shyam मंदिर में भगदड़, तीन महिलाओं की मौत, कई घायल
i

राजस्थान (Rajasthan) के सीकर जिले में खाटूश्याम मंदिर में एकादशी के मौके पर मासिक मेले में भगदड़ मचने से तीन महिला श्रद्धालुओं की मौत हो गई है और 3 महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गईं. घायल महिलाओं को गंभीर हालत में इलाज के लिए जयपुर रेफर किया गया.

ADVERTISEMENT

सीएम अशोक गहलोत ने घटना पर खेद जताते हुए कहा-

सीकर में खाटूश्याम जी के मंदिर में भगदड़ होने से 3 दर्शनार्थी महिलाओं की मृत्यु बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है. मेरी गहरी संवेदनाएं शोकाकुल परिजनों के साथ हैं, ईश्वर उन्हें यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करें एवं दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करें. भगदड़ में घायल हुए श्रद्धालुओं के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना है.

पीएम मोदी ने हादसे पर दुख जताते हुए ट्वीट किया-

राजस्थान के सीकर में खाटू श्यामजी मंदिर परिसर में मची भगदड़ में लोगों की मौत की घटना बेहद दुखद है. मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. मैं प्रार्थना करता हूं कि जो लोग घायल हुए हैं वे जल्द से जल्द ठीक हों.

घटना सुबह करीब 5 बजे की बताई जा रही है की है, सोमवार को एकादशी की वजह से खाटू में लाखों की भीड़ पिछले 2 दिन से जमा है. सोमवार को जब सुबह-सुबह मंदिर प्रशासन ने दर्शन के लिए गेट खोला तो भगदड़ मच गई और 3 महिलाएं उसके नीचे दब जाने से उनकी मौत हो गई.

हादसे के बाद खाटू श्याम मंदिर परिसर में अफरा-तफरी का माहौल हो गया. घटना के बाद घरवाले एक दूसरे के बारे में जानकारी लेने में लगे रहे. तीनों मृतकों के शवों को खाटूश्यामजी हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाया गया है. जहां उनका पोस्टमार्टम करवाया जाएगा. हादसे के शिकार हुए लोगों की पहचान की जा रही है.

खाटूश्याम जी के मासिक मेले में लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं. पट बंद होने के कारण श्रद्धालुओं की कई किलोमीटर की लाइन लग जाती है. अचानक से पट खुलने पर भगदड़ जैसे हालात बन जाते हैं.

मंदिर में वीवीआईपी दर्शन और निजी गार्डन से व्यवस्था नहीं समझ पाने का मामला कई बार उठता रहा है, लेकिन इस को लेकर प्रशासन की तरफ से कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए जाते हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
और देखें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×