ADVERTISEMENTREMOVE AD

मोदी सरकार की नई कैबिनेट में कितना 'परिवारवाद'? राजनीतिक परिवार से 13 मंत्री

Modi Cabinet 3.0: PM मोदी की नई कैबिनेट में कई पूर्व मुख्यमंत्री, दूसरी पीढ़ी के राजनेता और पूर्व शाही परिवारों के सदस्य शामिल हैं.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

Modi Cabinet 3.0: लोकसभा चुनाव हुए, लगातार तीसरी बार एनडीए की सरकार बनी, पीएम मोदी ने नया मंत्रीपरिषद चुना और उन सब में मंत्रिमंडल भी बंट गया. इन सबके बीच एक अहम सवाल. जो बीजेपी और पीएम मोदी विपक्षी पार्टियों को नेपोटिज्म के आरोप पर घेरते हैं यानी भाई-भतीजावाद का आरोप लगाते हैं, आखिर उन्होंने अपनी कैबिनेट में कितने ऐसे लोगों को जगह दी है जो राजनीतिक परिवार से आते हैं- जवाब है 71 में से कुल 13 ऐसे हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आइए जानते हैं ऐसे मंत्रियों के बारे में जिनका परिवार पहले से राजनीति से जुड़ा है या राजनीति 'विरासत' में मिली है.

1. पीयूष गोयल

पीयूष गोयल ने एनडीए सरकार के तीसरे कार्यकाल में वाणिज्य और उद्योग मंत्री के रूप में अपना कैबिनेट पोर्टफोलियो बरकरार रखा है. पीयूष गोयल राजनीतिक रूप से सक्रिय परिवार से आते हैं. उनके पिता, दिवंगत वेदप्रकाश गोयल, दो दशकों से अधिक समय तक केंद्रीय जहाजरानी मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष थे. उनकी मां, चंद्रकांता गोयल, मुंबई से महाराष्ट्र विधानसभा के लिए तीन बार चुनी गईं.

Modi Cabinet 3.0: PM मोदी की नई कैबिनेट में कई पूर्व मुख्यमंत्री, दूसरी पीढ़ी के राजनेता और पूर्व शाही परिवारों के सदस्य शामिल हैं.

पीयूष गोयल

(फोटो- क्विंट हिंदी)

2. धर्मेंद्र प्रधान

पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के तीसरे कार्यकाल में धर्मेंद्र प्रधान एक बार फिर केंद्रीय शिक्षा मंत्री बने हैं. उनके पास साल 2021 से यह विभाग है. धर्मेंद्र प्रधान भी राजनीतिक परिवार से आते हैं. उनके पिता देबेंद्र प्रधान केंद्रीय मंत्री थे.

Modi Cabinet 3.0: PM मोदी की नई कैबिनेट में कई पूर्व मुख्यमंत्री, दूसरी पीढ़ी के राजनेता और पूर्व शाही परिवारों के सदस्य शामिल हैं.

धर्मेंद्र प्रधान भी फिर से पीएम ने मंत्री परिषद में शामिल किया.

(फोटो: धर्मेंद्र प्रधान/X)

3. किंजरापु राम मोहन नायडू

टीडीपी सांसद किंजरापु राम मोहन नायडू को एविएशन मंत्री बनाया गया है यानी उन्हें नागरिक उड्डयन मंत्रालय का प्रभार मिला है. वह टीडीपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री किंजरापु राम मोहन नायडू के बेटे हैं.

4. ज्योतिरादित्य सिंधिया

सिंधिया से भले ही एविएशन ले लिया गया है लेकिन इसबार उन्हें एक नहीं दो-दो मंत्रालय मिले हैं. ज्योतरादित्य सिंधिया को टेलीकाम और उत्तर पूर्व विकास विभाग का पोर्टफोलियो दिया गया है. ज्योतिरादित्य कांग्रेस के दिग्गज नेता माधवराव सिंधिया और माधवी राजे के पुत्र हैं और कांग्रेस से पाला बदल कर बीजेपी में आए हैं.

0

5. जितिन प्रसाद

2021 में कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए जितिन प्रसाद को भी नए मंत्रालय में जगह मिली है. उन्हें वाणिज्य-उद्योग राज्यमंत्री बनाया गया है. वह पूर्व कांग्रेस नेता जितेंद्र प्रसाद के बेटे हैं.

Modi Cabinet 3.0: PM मोदी की नई कैबिनेट में कई पूर्व मुख्यमंत्री, दूसरी पीढ़ी के राजनेता और पूर्व शाही परिवारों के सदस्य शामिल हैं.

कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए थे जितिन प्रसाद.

(फोटो: क्विंट हिंदी)

6. अनुप्रिया पटेल

अनुप्रिया पटेल को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री, रसायन और उर्वरक मंत्रालय में राज्य मंत्री की जिम्मेदारी दी गई है. उन्होंने 2021 से केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री के रूप में काम किया है. वह अपना दल (सोनेलाल) पार्टी के संस्थापक सोने लाल पटेल की बेटी हैं.

Modi Cabinet 3.0: PM मोदी की नई कैबिनेट में कई पूर्व मुख्यमंत्री, दूसरी पीढ़ी के राजनेता और पूर्व शाही परिवारों के सदस्य शामिल हैं.

अनुप्रिया पटेल को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री की जिम्मेदारी दी गई है.

(फोटो- PTI)

7. कीर्तिवर्धन सिंह

कीर्तिवर्धन सिंह के पिता राजा आनंद सिंह सांसद रह चुके हैं. कीर्तिवर्धन सिंह को पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में राज्य मंत्री; और विदेश मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया है.

8. चिराग पासवान

चिराग पासवान पूर्व केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के बेटे हैं. इसबार उनकी पार्टी पांच सीटों पर लड़ी और सबपर जीत हासिल की. उन्हें पीएम मोदी की कैबिनेट में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री बनाया गया है.

9. रामनाथ ठाकुर

दो बार के राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर भारत रत्न कर्पूरी ठाकुर के बेटे हैं. कर्पूरी ठाकुर दो बार बिहार के सीएम रह चुके हैं. रामनाथ ठाकुर को कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री का पद मिला है.

10. किरेन रिजिजू

किरेन रिजिजू के पिता अरुणाचल प्रदेश के पहले प्रोटेम स्पीकर थे. किरेन को इस बार संसदीय कार्य मंत्री और अल्पसंख्यक कार्य मंत्री बनाया गया है. वह नेफा के दिनों में प्रदेश परिषद के सदस्य थे और 15 अगस्त 1975 को अनंतिम विधान सभा में विधायक बने.

11. राजा राव इंद्रजीत सिंह

गुरूग्राम से सांसद राजा राव इंद्रजीत सिंह लगातार तीसरी बार केन्द्र सरकार में मंत्री बने हैं. उन्हें सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), योजना मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और संस्कृति मंत्रालय में राज्य मंत्री की जिम्मेदारी मिली है. उनके पिता राव बीरेंद्र सिंह हरियाणा के सीएम थे.

12. एचडी कुमारस्वामी

एचडी कुमारस्वामी पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के बेटे हैं. उन्हें भारी उद्योग मंत्री और इस्पात मंत्री बनाया गया है.

13. रक्षा खडसे

मंत्रियों की लिस्ट में महाराष्ट्र के रेवर से बीजेपी सांसद रक्षा खडसे भी शामिल हैं. भले ही उनके माता-पिता में से कोई भी प्रमुख राजनेता नहीं है, वह महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री एकनाथ खडसे की बहू हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×