ADVERTISEMENT

राकेश राठौर 8वीं पास-साइकिल का पंचर बनाते थे, किस क्वालिटी की वजह से बने मंत्री

सीतापुर से पहली बार विधायक बने राकेश राठौर 'गुरु' बने Yogi Adityanath सरकार में राज्यमंत्री

Updated
राकेश राठौर 8वीं पास-साइकिल का पंचर बनाते थे, किस क्वालिटी की वजह से बने मंत्री
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शुक्रवार, 25 मार्च को दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कई राज्यों के मुख्यमंत्री मौजूद थे. लेकिन इन बड़े चेहरों के बीच एक ऐसे नेता भी राज्यमंत्री के रूप शपथ ले रहे थे जो पहले साइकिल और स्कूटर बनाने का काम करते थे. नाम तो वैसे राकेश राठौर है लेकिन सब उन्हें गुरु बुलाते हैं. आइये आपको सीतापुर से विधायक और योगी सरकार में मंत्री बने राकेश राठौर 'गुरु' (Rakesh Rathore Guru) की संघर्ष की कहानी सुनाते हैं.

ADVERTISEMENT

आठवीं पास साइकिल मिस्त्री और हराया चार बार के विधायक को

राकेश राठौर गुरु सिर्फ आठवीं पास हैं और एक जमाने में मिस्त्री हुआ करते थे. आरएमपी रोड पर उनकी साइकिल और स्कूटर ठीक करने की दुकान थी. बाद में उन्होंने स्पेयर्स पार्ट्स बेचने का भी काम किया और आखिर में इन्वर्टर तक बेचा. जबसे उन्होंने स्कूटर मिस्त्री के रूप में काम करना शुरू किया तो सब उन्हें गुरु बोलने लगे. क्षेत्र में राकेश राठौर गुरु अपनी सादगी के लिए जाने जाते हैं.

खास बात है कि इस बार बीजेपी ने सीतापुर विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक राकेश राठौर का टिकट काट कर राकेश राठौर गुरु को टिकट दिया. यानी लोगों के बीच नाम को लेकर भी कंफ्यूजन था. राकेश राठौर बीजेपी छोड़ समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे.

हालांकि समाजवादी पार्टी ने यहां से चार बार विधायक रहे राधेश्याम जायसवाल को अपना उम्मीदवार बनाया था लेकिन गुरु ने उन्हें 1253 वोटों से मात दी.

मूल रूप से राकेश राठौर गुरु का परिवार मिश्रिख का है और वो सीतापुर में दुर्गापुरवा मुहल्ले में रहते हैं.

सीएम योगी ने काटा कई बड़े चेहरों का पत्ता

सीएम योगी की दूसरी पारी में कई ऐसे बड़े चेहरे हैं जिनको जगह नहीं मिली है. पिछली सरकार में उप-मुख्यमंत्री रहे दिनेश शर्मा का पत्ता कट गया है जबकि पिछली योगी सरकार में एक मात्र मुस्लिम मंत्री- अल्पसंख्यक मंत्री रहे मोहसिन रजा को इस बार मंत्रीमंडल में जगह नहीं मिली है.

ADVERTISEMENT

इसके अलावा पिछली सरकार में बिजली मंत्री रहे श्रीकांत शर्मा के हाथ भी निराशा लगी है. मथुरा से विधायक श्रीकांत शर्मा को इस बार योगी मंत्रीमंडल में जगह नहीं मिली है. पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री के नाती और पिछली योगी सरकार में MSME, टेक्सटाइल, कड़ी-ग्रामोद्योग मंत्री रही सिद्धार्थ नाथ सिंह का पत्ता भी कट गया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
450

500 10% off

1620

1800 10% off

4500

5000 10% off

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह

गणतंत्र दिवस स्पेशल डिस्काउंट. सभी मेंबरशिप प्लान पर 10% की छूट

मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×