सटोरियों के हिसाब से MP में कांग्रेस आगे,छत्तीसगढ़ में कड़ी टक्कर
सट्टे के भाव के हिसाब से शिवराज की चौथी बार सरकार बनने की संभावना कम
सट्टे के भाव के हिसाब से शिवराज की चौथी बार सरकार बनने की संभावना कम(फोटो: क्विंट)

सटोरियों के हिसाब से MP में कांग्रेस आगे,छत्तीसगढ़ में कड़ी टक्कर

शिवराज सिंह चौहान की चौथी बार सरकार में वापसी की संभावना काफी मुश्किल है. कोलकाता और जयपुर के सट्टा बाजार में अभी जो भाव लग रहे हैं उसमें कांग्रेस को भी बहुमत के करीब बताया जा रहा है.

लेकिन पड़ोसी छत्तीसगढ़ में रमनसिंह की वापसी हो सकती है. हालांकि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर दिख रही है.

मध्यप्रदेश में ज्यादातर सर्वे में भी कांग्रेस को ही आगे दिखाया गया है. हालांकि बीजेपी बहुत ज्यादा पीछे नहीं है. इसी तरह छत्तीसगढ़ में दोनों पार्टियों में कांटे की टक्कर है लेकिन बीजेपी थोड़ा आगे है.

ये भी पढ़ें- राजस्थान में सट्टा बाजार में किसकी बनेगी सरकार

सट्टा बाजार के भाव को पब्लिक मूड का पता लगाने का अच्छा तरीका माना जाता है. सट्टा बाजार में बराबरी का भाव मिलने का मतलब है कि इस बात की संभावना सबसे ज्यादा है. लेकिन अगर एक रुपए के बदले ज्यादा रकम मिलती है मतलब उन हालात की गुंजाइश कम है. आइए देखते हैं मध्यप्रदेश में क्या संभावना लग रही है.

जयपुर सट्टा बाजार में बराबरी के भाव में कांग्रेस आगे है. इस सट्टे में सबसे कम रिस्क और सबसे कमाई है. 

बराबरी का सट्टा भाव (1 के बदले 1रुपए)

जयपुर सट्टा बाजार में ये भाव पर बीजेपी की 100 से 102 सीट और कांग्रेस की 110 से 115 सीटों के लिए लग रहा है. मतलब सटोरियों को लगता है कि कांग्रेस बहुमत के करीब है. मध्यप्रदेश में बहुमत के लिए 116 सीटों की जरूरत है.

(ग्राफिक्स- क्विंट/स्तुति)

सट्टे का भाव- (1 के बदले तीन रुपए)

मतलब अगर कोई 1 रुपए लगाता है तो अनुमान सही लगने पर उसे 3 रुपए मिलेंगे. यानी जोखिम ज्यादा है. इस भाव पर बीजेपी को 115 से 120 सीटें और कांग्रेस को 120-125 सीटें का अनुमान लगाया जा रहा है. भाव ज्यादा होने से तय है कि सट्टा बाजार को लगता है. इस तरह के हालात के आसार कम हैं.

(ग्राफिक्स- क्विंट/स्तुति)

सट्टे का भाव 1 के बदले 4 रुपए

बीजेपी को 128-132 और कांग्रेस को 130-135 सीटों पर ये भाव लग रहे हैं. 1 के बदले 4 गुना रकम का मतलब यही है कि सट्टा बाजार को लगता है कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही मुश्किल से ही बहुमत तक पहुंच पाएंगी.

(ग्राफिक्स- क्विंट/स्तुति)

कोलकाता सट्टा बाजार

यहां बराबरी के भाव पर कांग्रेस को 112-115 सीटें और बीजेपी को 100 से 103 सीटों पर दांव लग रहे हैं. यानी कांग्रेस फिलहाल बीजेपी से आगे है. लेकिन बहुमत से कम.

(ग्राफिक्स: क्विंट/स्तुति)

छत्तीसगढ़ में सट्टा भाव

यहां बहुमत के लिए किसी भी पार्टी को 46 सीटें चाहिए. जयपुर के सट्टा बाजार में भाव के हिसाब से बीजेपी थोडी सी आगे दिख रही है. एक के बदले एक पर बीजेपी को 43 से 45 सीटों का अनुमान है जबकि कांग्रेस को 38 से 40 सीट.

लेकिन कोलकाता के सट्टा बाजार में कांग्रेस को आगे बताया जा रहा है. सटोरिए इस बात को लेकर कंफ्यूज हैं कि यहां किसकी सरकार बनने जा रही है. छत्तीसगढ़ में भी 15 सालों से बीजेपी का ही शासन है, यहां कांग्रेस और बीजेपी के बीच बराबरी की टक्कर बताई जा रही है. सट्टा मार्केट दोनों पार्टियों को 40-42 सीटें दे रहा है.

(ग्राफिक्स: क्विंट/स्तुति)

(यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)

Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

    वीडियो