शिवराज सिंह चौथी बार बने MP के सीएम, PM मोदी-नड्डा ने दी बधाई
शिवराज सिंह चौहान 
शिवराज सिंह चौहान  (फाइल फोटो: Reuters)

शिवराज सिंह चौथी बार बने MP के सीएम, PM मोदी-नड्डा ने दी बधाई

कमलनाथ के इस्तीफे के बाद मध्य प्रदेश का सियासी ड्रामा आखिर खत्म हुआ और अब नए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शपथ ली है. शिवराज ने चौथी बार बतौर मध्य प्रदेश सीएम शपथ ली. इसके साथ ही राज्य में कांग्रेस की सरकार गई और बीजेपी ने सरकार बना ली.

Loading...

शिवराज सिंह का शपथ ग्रहण सामारोह काफी सामान्य था. इस दौरान ज्यादा भीड़ भी इकट्ठा नहीं की गई. कोरोनावायरस के चलते ज्यादा लोगों को नहीं बुलाया गया. कुछ गिने-चुने लोगों की मौजूदगी में शिवराज सिंह ने सीएम पद की शपथ ली.

सीएम ग्रहण से ठीक पहले बीजेपी विधायक दल की बैठक हुई. जिसमें शिवराज सिंह चौहान को विधायक दल का नेता चुना गया. इसके बाद शिवराज सिंह ने कहा कि ये उनके लिए एक भावुक पल है. उन्होंने कहा,

“आज मुझे बीजेपी एमपी के विधायक दल का नेता चुना गया है. यह मेरे लिए एक बहुत ही भावुक क्षण है. मैं बीजेपी का एक सामान्य कार्यकर्ता हूं. यही एक ऐसी पार्टी है, जो सामान्य कार्यकर्ता को भी बड़े कार्य करने का अवसर प्रदान करती है.”
शिवराज सिंह चौहान

PM मोदी, नड्डा ने दी बधाई

शिवराज सिंह के एक बार फिर मध्य प्रदेश का सीएम बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बधाई दी. पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,

“मैं शिवराज सिंह चौहान को अपनी शुभकामनाएं देता हूं. वो एक काबिल और अनुभवी प्रशासक हैं, जो राज्य के विकास के लिए काफी तत्पर रहते हैं. विकास की नई ऊंचाइयों के लिए उन्हें शुभकामनाएं.”
पीएम मोदी

पीएम मोदी के अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी शिवराज को बधाई दी. उन्होंने लिखा,

“शिवराज सिंह चौहान को बधाई देता हूं. उन्हें एक बार फिर राज्य के लोगों की सेवा करने का मौका मिला है. बीजेपी अपने संकल्प पत्र के हर वादे को पूरा करेगी. ये सरकार गरीबों, महिलाओं और युवाओं को समर्पित है.”

कई दिनों तक चला सियासी ड्रामा

इससे पहले मध्य प्रदेश का सियासी ड्रामा होली से ठीक एक दिन पहले शुरू हुआ. जब खबर आई कि कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया अपना इस्तीफा देने जा रहे हैं. उनके साथ ही कांग्रेस के 22 विधायक भी पार्टी छोड़कर चल दिए. जिसके बाद कमलनाथ सरकार संकट में आ गई. फ्लोर टेस्ट को लेकर कई कोशिशें हुईं, मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा. सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी करते हुए फ्लोर टेस्ट करने की बात कही. इसके ठीक बाद कमलनाथ ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया और बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा पेश किया.

ये भी पढ़ें : कमलनाथ का तख्तापलट कैसे हुआ? कहानी सिंधिया से भी पुरानी है

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

    Loading...