ADVERTISEMENTREMOVE AD

कपिल सिब्बल के खिलाफ हुए कांग्रेसी नेता,पार्टी से बाहर निकालने की उठी मांग

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने गांधी परिवार के खिलाफ टिप्पणी के लिए कपिल सिब्बल पर साधा निशाना

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

विधानसभा चुनावों में खराब प्रदर्शन के बाद कांग्रेस की आंतरिक कलह अब खुलकर सामने आ रही है. छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव (TS Singh Deo) ने गुरुवार, 17 मार्च को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) को पांच राज्यों में चुनावी हार के बाद गांधी परिवार के खिलाफ टिप्पणी के लिए पार्टी से बाहर निकालने की मांग की है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

टीएस सिंह देव ने ट्विटर पर कपिल सिब्बल पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ " व्यक्तिगत और निंदनीय राय" को सार्वजनिक करने के लिए उन्हें निष्कासित कर दिया जाना चाहिए.

“हर तरह से कपिल सिब्बल का यह अपमानजनक बयान है. सुधारों के उद्देश्य से लिए जा रहे कड़े फैसलों के बीच कपिल सिब्बल को CWC के संयुक्त निर्णय के खिलाफ अपनी व्यक्तिगत और निंदनीय राय के साथ सार्वजनिक करने के लिए पार्टी से निष्कासित किया जाना चाहिए.”
टीएस सिंह देव

मालूम हो कि कपिल सिब्बल G-23 का हिस्सा हैं जो कांग्रेस के अंदर असंतुष्ट नेताओं का एक समूह है और 2019 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद से ही पिछले दो सालों से पार्टी नेतृत्व के पुनर्गठन की मांग उठा रहे हैं.

G-23 नेताओं ने बुधवार, 16 मार्च को राज्यसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद के आवास पर बैठक की थी.

यह बैठक G-23 समूह के लिए भविष्य की रणनीति पर काम करने और पांच राज्यों में कांग्रेस को मिली हार पर चर्चा करने के लिए बुलाई गई थी.

0

अशोक गहलोत ने भी साधा था निशाना

इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार, 15 मार्च को कपिल सिब्बल पर निशाना साधते हुए कहा था कि वो "कांग्रेस संस्कृति" के व्यक्ति नहीं थे और उनकी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की तरह रगड़ाई नहीं हुई है.

"कपिल सिब्बल कांग्रेस संस्कृति के व्यक्ति नहीं हैं. वह एक प्रसिद्ध वकील हैं जिन्होंने कांग्रेस में प्रवेश किया. सोनिया जी और राहुल जी के आशीर्वाद से उन्हें बहुत मौके दिए हैं. उनके मुंह से ऐसी बात निकलना दुर्भाग्यपूर्ण है"
अशोक गहलोत

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भी कहा कि सिब्बल को नेतृत्व के खिलाफ सार्वजनिक टिप्पणी करने के बजाय कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ना चाहिए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×