ADVERTISEMENTREMOVE AD

UP BJP प्रमुख स्वतंत्र देव मुलायम सिंह से मिले, क्या है मुलाकात के मायने

स्वतंत्र देव ने मुलाकात की तस्वीरें ट्वीट करते हुए कहा कि उन्होंने "नेताजी" का आशीर्वाद लिया.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की. बीजेपी नेता का ये दौरा अहम माना जा रहा है, जब पार्टी जाति जनगणना पर अपने अंतर को समझाने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है, और अपने ओबीसी आउटरीच को आगे बढ़ा रही है.

मंगलवार को लखनऊ में दिवंगत बीजेपी नेता कल्याण सिंह के लिए आयोजित शोक सभा में स्वतंत्र देव ने कहा कि वह सभा में आने के लिए मुलायम सिंह को आमंत्रित करने गए थे.

स्वतंत्र देव ने मुलाकात की तस्वीरें ट्वीट करते हुए कहा कि उन्होंने "नेताजी" का आशीर्वाद लिया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

इससे पहले बीजेपी ने एसपी प्रमुख अखिलेश यादव की आलोचना की थी कि वे कल्याण सिंह के प्रति संवेदना व्यक्त करने के लिए नहीं गए थे. यहां तक ​​​​कि मायावती ने भी ऐसा ही किया था. मंगलवार को हुई शोक सभा में बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा भी मौजूद थे और स्वतंत्र देव के बगल में बैठे थे.

0

एसपी की तरफ से ये बयान आया कि स्वतंत्र देव भारतीय जनता पार्टी से नाखुश हैं और मुलायम सिंह ने उन्हें पार्टी ज्वाइन करने का न्योता दिया है.

एसपी प्रवक्ता मनीष जगन अग्रवाल ने ट्वीट करते हुए इस बात का जिक्र किया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

कल्याण सिंह की याद में शोकसभा

मंगलवार को बीजेपी की तरफ से दिवंगत कल्याण सिंह की याद में पूरे उत्तर प्रदेश में शोकसभा का आयोजन किया गया.

कल्याण सिंह जिनके कार्यकाल में बाबरी मस्जिद को ध्वस्त किया गया था, वो एक हिन्दुत्व आइकन और पूर्व मुख्यमंत्री होने के साथ-साथ एक प्रभावशाली ओबीसी नेता भी थे. भारतीय जनता पार्टी आगामी चुनाव में इन दोनो बातों को ध्यान में रखते हुए खुद को मजबूत करने की कोशिश में है.

बीजेपी की तरफ से यह भी कहा गया कि कल्याण की श्रद्धांजलि कार्यक्रम में अखिलेश यादव का न आना, यह दर्शाता है कि वो अल्पसंख्यक विरोधी हैं.
ADVERTISEMENTREMOVE AD

सभा के दौरान कल्याण सिंह को 'महान नेता' बताते हुए स्वतंत्र देव ने कहा कि शोक सभा के लिए 40 से अधिक दलों को आमंत्रित किया गया है. उन्होंने दावा करते हुए यह भी कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में दलितों और वंचितों को सुरक्षित महसूस कराया है, जैसा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लिए किया था.

बैठक में आदित्यनाथ के अलावा डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारी कृष्ण गोपाल मौजूद थे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×