ADVERTISEMENTREMOVE AD

Fact Check: मस्जिद के सामने खड़े अमृतपाल सिंह की ये फोटो एडिटेड है

Amritpal Singh की तस्वीर को एडिट कर बनाया गया है. असली तस्वीर अमृतपाल की LinkedIn प्रोफाइल से ली गई है

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

पंजाब पुलिस 'वारिस पंजाब दे' प्रमुख अमृतपाल सिंह संधू (Amritpal Singh) की तलाश कर रही है. ऐसे में अमृतपाल की एक पुरानी फोटो वायरल हो रही है, जिसमें वो एक मस्जिद के सामने खड़ा नजर आ रहा है.

क्या है दावा?: तस्वीर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि अमृतपाल सिंह सिख नहीं, बल्कि एक "पाकिस्तानी एजेंट" है. दावे में ये भी कहा जा रहा है कि अमृतपाल मुस्लिम समुदाय से है.

टीवी पैनलिस्ट डॉ. सैयद रिजवान अहमद ने फोटो शेयर कर कैप्शन में लिखा, "न तो सिख और न ही भारतीय!"

Amritpal Singh की तस्वीर को एडिट कर बनाया गया है. असली तस्वीर अमृतपाल की LinkedIn प्रोफाइल से ली गई है

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

(ऐसे और भी पोस्ट के आर्काइव आप यहां और यहां देख सकते हैं.)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सच क्या है?: वायरल दावा भ्रामक है. अमृतपाल सिंह की तस्वीर को एडिट कर बनाया गया है. असली तस्वीर अमृतपाल की LinkedIn प्रोफाइल से ली गई है.

कौन है अमृतपाल सिंह?

  • अमृतपाल दुबई से लौटा सिख उपदेशक और वारिस पंजाब दे नाम के संगठन का नेता है.

  • इस संगठन को एक्टर-एक्टिविस्ट दीप सिद्धू ने फरवरी 2022 में बनाया था. दीप सिद्धू का इसके बाद निधन हो गया.

  • अमृतपाल सिंह ने जरनैल सिंह भिंडरावाले से प्रेरित होने का दावा करते हुए, खालिस्तान की मांग उठाई है.

  • अमृतपाल फिलहाल फरार है. हालांकि, उसके कई साथियों को पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

हमने सच का पता कैसे लगाया?:

हमने वायरल तस्वीर को "अमृतपाल सिंह" कीवर्ड्स की मदद से रिवर्स इमेज सर्च किया, जिससे हमें उसकी LinkedIn प्रोफाइल मिली.

Amritpal Singh की तस्वीर को एडिट कर बनाया गया है. असली तस्वीर अमृतपाल की LinkedIn प्रोफाइल से ली गई है

प्रोफाइल का लिंक देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/LinkedIn)

प्रोफाइल फोटो का बैकग्राउंट वायरल फोटो से अलग है. इसे आप नीचे देख सकते हैं.

Amritpal Singh की तस्वीर को एडिट कर बनाया गया है. असली तस्वीर अमृतपाल की LinkedIn प्रोफाइल से ली गई है

बाएं वायरल तस्वीर, दाएं ओरिजनल तस्वीर

(फोटो: Altered by The Quint)

बैकग्राउंड में दिख रही बिल्डिंग:

  • हमने फोटो के पीछे वाले हिस्से को क्रॉप कर उस पर रिवर्स इमेज सर्च किया. इससे हमें अबू धाबी में शेख जायद ग्रैंड मस्जिद की स्टॉक फोटो मिलीं.

  • वायरल फोटो के बैकग्राउंड में इस्तेमाल की गई तस्वीर दुबई की एक कंसल्टिंग और ट्रैवेल एजेंसी की वेबसाइट से ली गई है.

निष्कर्ष: साफ है कि अमृतपाल सिंह की एडिटेड फोटो शेयर कर गलत दावा किया जा रहा है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×