ADVERTISEMENTREMOVE AD

महिला पर चाकू से हमले का पुराना वीडियो झूठे 'लव जिहाद' एंगल से वायरल

वायरल वीडियो में महिला की गर्दन और चेहरे पर घाव दिख रहे हैं और वहां मौजूद लोग एक शख्स को पीटते दिख रहे हैं.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोग कथित तौर पर एक लड़की को चाकू मारने वाले शख्स को पीटते नजर आ रहे हैं. वीडियो में एक घायल लड़की भी दिख रही है, जिसके गले के पास घाव दिख रहे हैं.

क्या है दावा? : वीडियो को 'लव जिहाद' (Love Jihad) एंगल से शेयर कर दावा किया जा रहा है कि घायल महिला हिंदू और उस पर हमला करने वाला शख्स मुस्लिम.

वायरल वीडियो में ये टेक्स्ट लिखा हुआ है, ''जेहादी के प्रेम जाल में फंसी हिंदू लड़की का गला काट रहा था-अब आखिर कब हिंदू बचाएंगे.''

वायरल वीडियो में महिला की गर्दन और चेहरे पर घाव दिख रहे हैं और वहां मौजूद लोग एक शख्स को पीटते दिख रहे हैं.

लव जिहाद एंगल से शेयर किया जा रहा है वीडियो

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

(नोट: वीडियो के विचलित करने वाले विजुअल्स की वजह से हमने इससे जुड़े किसी भी लिंक का इस्तेमाल स्टोरी में नहीं किया है.)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सच क्या है?: वीडियो झारखंड के पिठोरिया का है और साल 2019 का है. जिसमें एक शख्स को भीड़ ने इसलिए पीटा था, क्योंकि उसने कथित तौर पर अपनी महिला मित्र पर हमला किया था. हालांकि, इस घटना में 'लव जिहाद' का कोई एंगल नहीं है. घटना में शामिल शख्स और महिला दोनों मुस्लिम नहीं हैं.

हमने सच का पता कैसे लगाया? : हमने वीडियो के कीफ्रेम निकालकर उनमें से कुछ पर रिवर्स इमेज सर्च किया. इससे हमें:

  • Prabhat Khabar पर पब्लिश 16 सितंबर 2019 की एक रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो के विजुअल इस्तेमाल किए गए थे.

  • रिपोर्ट में अपनी स्कूल की दोस्त पर हमला करने वाले शख्स का नाम अरविंद बताया गया है.

वायरल वीडियो में महिला की गर्दन और चेहरे पर घाव दिख रहे हैं और वहां मौजूद लोग एक शख्स को पीटते दिख रहे हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक ये घटना 15 सितंबर2019 की है.

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/Prabhat Khabar)

  • रिपोर्ट के मुताबिक, अरविंद और महिला दोनों पतरालू घाटी और डैम घूमने गए थे, जहां दोनों के बीच विवाद हो गया और शख्स ने महिला पर चाकू से हमला कर दिया. आरोपी को वहां मौजूद लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था.

0
  • हमें घटना से जुड़ी 15 सितंबर 2019 की एक रिपोर्ट India Today पर भी मिली.

पहले भी ऐसी ही दावे से वायरल हो चुका है वीडियो: ये वीडियो पहले भी इसी दावे के साथ वायरल हो चुका है. तब भी क्विंट ने इस दावे की पड़ताल की थी. तब क्विंट से रांची (ग्रामीण) एसएसपी ने स्पष्ट किया था कि मामला 'लव जिहाद' का नहीं है.

  • एसएसपी ने क्विंट को मामले से जुड़ी जो प्रेस रिलीज दी थी, उसके मुताबिक आरोपी अरविंद कुमार और महिला लातेहार जिले के हैं. महिला रांची में पढ़ती थी. 15 सितंबर को आरोपी और महिला पतरालू गए थे.

  • प्रेस रिलीज के मुताबिक, अरविंद ने कथित तौर पर पीड़िता से छेड़छाड़ की थी. विरोध करने पर उसने चाकू से उसके चेहरे और गर्दन पर वार कर दिया.

  • वहां मौजूद स्थानीय लोगों ने पीड़िता को पिठोरिया थाने पहुंचाया, जहां से उसे स्थानीय अस्पताल ले जाया गया.

  • प्रेस रिलीज के मुताबिक, आरोपी और पीड़ित दोनों एक ही समुदाय से हैं.

ADVERTISEMENT

श्रद्धा वॉकर ही हत्या से जोड़ते हुए शेयर किए जा रहे झूठे दावे: हाल की श्रद्धा वॉकर की हत्या की घटना के बाद से कई यूजर्स 'लव जिहाद' एंगल से कई झूठे दावे शेयर किए हैं. बता दें कि कथित तौर पर श्रद्धा वॉकर की हत्या उसके साथी आफताब पूनावाला ने की है.

निष्कर्ष: साफ है कि 3 साल पुराना वीडियो हाल की घटना की तरह झूठे सांप्रदायिक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×