ADVERTISEMENT

करौली हिंसा से जुड़ा नहीं है, कांग्रेस को वोट न देने की शपथ लेते लोगों का वीडियो

ये वीडियो 2020 का है जब राष्ट्रीय एकीकृत महासंघ ने बेरोजगारी को लेकर कांग्रेस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था

Published
करौली हिंसा से जुड़ा नहीं है, कांग्रेस को वोट न देने की शपथ लेते लोगों का वीडियो
i

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कई लोग एक साथ राजस्थान में कांग्रेस (Congress) को वोट न देने की शपथ लेते नजर आ रहे हैं. वीडियो को करौली में हुई हिंसा से जोड़कर शेयर किया जा रहा है.

बता दें कि करौली में 2 अप्रैल, 2022 को नव संवत्सर (हिंदू केलैंडर के अनुसार नव वर्ष) पर एक बाइक रैली आयोजित की गई जिस पर कथित तौर पर पथराव हो गया और भीड़ ने आगजनी कर दी. कई लोग चोटिल हुए, जिसके बाद इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया था.

हालांकि, वीडियो की पड़ताल में हमने पाया कि ये वीडियो 2020 का है और इसका करौली में हुई हिंसा से कोई संबंध नहीं है.

ADVERTISEMENT

दावा

ट्विटर पर एक यूजर ने वीडियो शेयर कर लिखा, ''रामनवमी करौली कांड राजस्थान से हम संकल्प लेते है की कांग्रेस को वोट नहीं देंगे !!कांग्रेस भगाओ देश बसाओ!! जय श्री राम वैसे ये राजस्थान वाले हर ५ साल में ऐसी क़सम खाते हैं''

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

इस वीडियो को ट्विटर के साथ-साथ फेसबुक पर भी इसी दावे से शेयर किया गया है. इनके आर्काइव आप यहां, यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमने वीडियो वेरिफिकेशन टूल InVID का इस्तेमाल कर कई कीफ्रेम में बांटा और उनमें से कुछ पर रिवर्स इमेज सर्च किया. हमें J B N NEWS TV नाम के एक यूट्यूब चैनल पर यही वीडियो मिला. इसे चैनल पर 23 नवंबर 2020 को अपलोड किया गया था.

ये वीडियो 23 नवंबर 2020 को अपलोड किया गया था.

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/यूट्यूब)

ये वीडियो करीब 2 साल पहले से इंटरनेट पर मौजूद है, जबकि करौली हिंसा 2 अप्रैल 2022 को हुई थी. यहां से साफ होता है कि इस वीडियो का करौली में हुई हिंसा से कोई संबंध नहीं है.

इसके बाद हमने वायरल वीडियो को ध्यान से देखा. वीडियो में एक पीले रंग की होर्डिंग दिख रही है, जिसमें लिखा हुआ है- 'बेरोजगार एकीकृत महासंघ'

होर्डिंग में लिखा हुआ है बेरोजगार एकीकृत महासंघ

(फोटो:Altered by The Quint)

हमने यहां से क्लू लेकर टाइम फिल्टर का इस्तेमाल कर जरूरी कीवर्ड के साथ बेरोजगार एकीकृत महासंघ को भी इस्तेमाल कर गूगल पर सर्च किया. हमें 17 नवंबर 2020 की Dainik Bhaskar पर पब्लिश एक रिपोर्ट मिली.

दैनिक भास्कर पर 17 नवंबर की रिपोर्ट

(फोटो:Altered by The Quint)

ADVERTISEMENT

रिपोर्ट के मुताबिक, बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने बेरोजगारी को लेकर सीकर के रामलीला मैदान में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था. ये प्रदर्शन प्रदेशाध्यक्ष उपेन यादव के नेतृत्व में हुुआ. उपेन यादव ने सरकार को चेतावनी देते हुए आर-पार की लड़ाई का ऐलान किया था. रिपोर्ट में बताया गया था कि इसी दौरान लोगों ने कांग्रेस का बहिष्कार कर वोट न देने की शपथ भी ली थी.

ये खबर 17 नवंबर 2020 को पब्लिश हुई थी

(फोटो: स्क्रीनशॉट/Dainik Bhaskar)

यहां से क्लू लेकर हमने बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव के सोशल मीडिया हैंडल खंगाले. हमें उपेन यादव के फेसबुक अकाउंट में 17 नवंबर 2020 को अपलोड किया गया एक 9 मिनट 17 सेकंड का वीडियो मिला. वीडियो के 7 मिनट 55 सेकंड से वायरल वीडियो वाला हिस्सा देखा जा सकता है. इस वीडियो को इसी दिन उपेन यादव ने ट्वीट भी किया था.

ADVERTISEMENT

मतलब साफ है कि लोगों को कांग्रेस को वोट न देने की शपथ लेते दिखाता ये वीडियो करीब 2 साल पुराना है, जिसे करौली हिंसा से जोड़कर गलत दावे से शेयर किया जा रहा है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं )

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  वेबकूफ   rajasthan   Webqoof 

ADVERTISEMENT
और देखें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×