ADVERTISEMENT

राजस्थान में घरेलू हिंसा के वीडियो झूठे सांप्रदायिक दावे से वायरल

ये घटना अजमेर की है जहां अजीत चीता नाम के शख्स ने अपनी पत्नी और बच्चों पर हमला किया था.

Published
राजस्थान में घरेलू हिंसा के वीडियो झूठे सांप्रदायिक दावे से वायरल
i

सोशल मीडिया पर दो वीडियो शेयर हो रहे हैं. जिनमें एक महिला और दो बच्चे खून से लथपथ दिख रहे हैं. वीडियो इस झूठे दावे के साथ शेयर किए जा रहे हैं कि राजस्थान में 'अजमल खान' नाम के एक शख्स को एक हिंदू महिला से प्यार हो गया. लेकिन जब महिला के पिता ने इस रिश्ते को मंजूरी नहीं दी तो उसने महिला के परिवार को मार दिया.

ADVERTISEMENT

हालांकि, पड़ताल हमने पाया कि ये घटना अजमेर में हुई थी. जहां अजीत चीता नाम के एक शख्स ने अपनी पत्नी और दो बेटियों को घरेलू विवाद की वजह से मारने की कोशिश की थी. अजमेर के जांच अधिकारी सुरेंद्र सिंह जोधा ने हमें बताया कि ये घटना सांप्रदायिक नहीं थी और इंटरनेट पर शेयर किया जा रहा दावा पूरी तरह से झूठा है.

दावा

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लैटफॉर्म में घटना से जुड़े दो वीडियो शेयर कर कैप्शन में लिखा गया है, "राज्यस्थान में एक मुस्लिम अजमल खान एक हिन्दू परिवार की लड़की पर लट्टू हो गया और उसके बाप के पास घर रिश्ता ले के पंहुचा. लड़की के बाप ने उसे धमका के भगा दिया कहा तुम मुस्लिम हो, हम हिन्दु है और हम ये गलत काम नहीं करेंगे। और फिर अजमल खान अगले दिन हथियार लेके गया और एक DNA वाले हिन्दु परिवार के सारे लोगो को मार डाला".

नोट: क्विंट ने इस स्टोरी में दावे से जुड़ा कोई लिंक नहीं इस्तेमाल किया है, क्योंकि कंटेंट विचलित कर सकता है.

<div class="paragraphs"><p>ये वीडियो फेसबुक पर शेयर हो रहा है</p></div>

ये वीडियो फेसबुक पर शेयर हो रहा है

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

इस दावे को कई सोशल मीडिया यूजर्स ने शेयर किया है. लेकिन हमने कंटेंट में दिख रहे विचलित करने वाले विजुअल की वजह से आर्काइव लिंक इस्तेमाल नहीं किए हैं.

दावे से जुड़ी क्वेरी हमारी WhatsApp टिपलाइन में भी आई है.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमने वायरल दावे की जांच करने के लिए, दावे से जुड़े कीवर्ड गूगल पर सर्च किए. लेकिन हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली जिसमें ये बताया गया हो कि अजमल खान नाम के शख्स ने हिंदू महिला से शादी न कर पाने की वजह से उसके परिवार पर हमला किया.

इसके बाद, हमने InVID टूल का इस्तेमाल करके वीडियो को कई कीफ्रेम में बांटा, और मिले हर फ्रेम पर रिवर्स इमेज सर्च करके देखा.

रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें एक ट्वीट मिला (चेतावनी: वीडियो में दिख रहे विजुअल विचलित करने वाले हैं), जिसमें शेयर हो रहे वीडियो में से एक वीडियो था. इसके कैप्शन में लिखा था कि ये घटना राजस्थान के अजमेर की है. जहां एक शख्स ने बेरोजगारी की वजह से अपनी बेटियों और पत्नी की हत्या करने की कोशिश की थी. इसके अलावा, हमें कई पोस्ट के कमेंट सेक्शन में भी अजमेर की इस घटना का जिक्र मिला.

कमेंट और ट्वीट से क्लू लेकर, हमने अजमेर पुलिस से संपर्क किया.

क्विंट ने ब्यावर सदर थाने के इनवेस्टिगेंशन ऑफिसर सुरेंद्र सिंह जोधा से बात की. उन्होंने हमें बताया कि ये घटना सांप्रदायिक नहीं थी.

जोधा ने बताया, ''अजीत चीता नाम के एक शख्स ने 14 जुलाई को अपनी पत्नी कविता और दो बेटियों ऐंजल और अनु पर नशे में हमला किया. हमले में उसकी दोनों बेटियों का निधन हो गया और पत्नी को अस्पताल में एडमिट कराया गया. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.''

पुलिस ने हमें ये भी बताया कि अजीत और कवित की 10 साल पहले लव मैरिज हुई थी.

अजीत चीता मेहरात समुदाय से है, जिसमें हिंदू और मुसलमान दोनों शामिल हैं. पुलिस ने कहा कि उन्होंने अपनी शुरुआती जांच में पाया है कि अजीत के परिवार में हिंदू थे लेकिन उसकी पहचान मुस्लिम के रूप में की गई.

ADVERTISEMENT
जोधा ने हमें ये भी बताया कि अजीत महामारी और बेरोजगारी के चलते डिप्रेशन में था. हालांकि, उसके पड़ोसियों की ओर से ऐसी रिपोर्ट भी आई हैं जो सत्यापित नहीं हैं, लेकिन उनके मुताबिक अजीत इसलिए नाराज था क्योंकि उसकी पत्नी ने हिस्टेरेक्टॉमी (ऑपरेशन से गर्भाशय निकलवा देना) करवा ली थी, जिससे वो और बच्चे नहीं पैदा कर सकते थे.

जोधा ने क्विंट को आगे बताया कि अजीत की इस हरकत के पीछे की वजह ये भी हो सकती है कि उसकी दो बेटियां थीं और उसे एक लड़का चाहिए था.

हमें इस घटना से जुड़ी रिपोर्ट्स भी मिलीं. Dainik Jagran की रिपोर्ट के मुताबिक अजीत ने पैसों की कमी और बेरोजगारी के चलते हमला किया था. रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि कविता की हिस्टेरेक्टॉमी के बाद अजीत पर घर के कामों का बोझ पड़ गया था.

Patrika की एक रिपोर्ट में अजीत की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है. जिसे एक वायरल वीडियो में भी देखा जा सकता है.

<div class="paragraphs"><p>रिपोर्ट में अजीत की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया था</p></div>

रिपोर्ट में अजीत की तस्वीर का इस्तेमाल किया गया था

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/Patrika)

हमें First India News के इस घटना से जु़ड़े एक ट्वीट पर अजमेर पुलिस की प्रतिक्रिया भी मिली. पुलिस ने जवाब में लिखा था कि कविता के परिवार ने आने से इनकार कर दिया क्योंकि वो 10 साल पहले अजीत के साथ उसके शादी के फैसले से नाराज था.

मतलब साफ है कि राजस्थान में एक शख्स के अपनी पत्नी पर हमला करने और दो बेटियों को जान से मारने की खबर को गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है. इस घटना से जुड़े वीडियो शेयर कर काल्पनिक कहानी गढ़ी गई है कि अजमल खान नाम के एक शख्स ने हिंदू लड़की के परिवार को इसलिए मार दिया क्योंकि उसके पिता ने शादी से इनकार कर दिया था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×