ADVERTISEMENTREMOVE AD

New Zealand: स्मोकिंग पर बैन लगाने वाले देश न्यूजीलैंड ने कानून क्यों बदला?

New Zealand की नई सरकार ने कानून को वापस ले लिया है और कहा है कि इससे लोगों को टैक्स में राहत मिलेगी.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

न्यूजीलैंड (New Zealand) में साल भर पहले स्मोकिंग पर (Smoking Ban) लगे प्रतिबंध को खत्म कर दिया गया है. न्यूजीलैंड की नई सरकार ने कानून को वापस ले लिया है और कहा है कि इससे लोगों को टैक्स में राहत मिलेगी.

न्यूजीलैंड में सिगरेट की बिक्री को लेकर क्या कानून था? क्यों कानून को वापस लिया गया है? आइए सब समझते हैं.

New Zealand: स्मोकिंग पर बैन लगाने वाले देश न्यूजीलैंड ने कानून क्यों बदला?

  1. 1. क्या था सिगरेट बैन पर कानून?

    न्यूजीलैंड में धूम्रपान को चरणबद्ध तरीके से खत्म करने के लिए न्यूजीलैंड ने सबसे पहले अपनी अगली पीढ़ी के लिए तंबाकू की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए कानून पारित किया था.

    कानून के तहत 2008 के बाद जन्मा कोई भी व्यक्ति अपने जीवनकाल में सिगरेट या तंबाकू नहीं खरीद सकेगा. स्वास्थ्य मंत्री डॉ आयशा वेराल ने कहा था, "हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि युवा कभी भी धूम्रपान शुरू न करें."

    Expand
  2. 2. क्यों सिगरेट बैन पर कानून रद्द हुआ?  

    न्यूजीलैंड में जैसिंडा अर्डर्न के नेतृत्व वाली पिछली सरकार सिगरेट बैन को लेकर कानून लाई थी जिसे क्रिस्टोफर लक्सन की नई सरकार ने वापस ले लिया है. नई सरकार का कहना है कि इससे होने वाली कमाई के बाद लोगों को टैक्स में राहत दी जा सकेगी.

    पिछले कानून का न्यूजीलैंड के कुछ व्यापारिक समूहों ने विरोध किया था. कई दुकानों के मालिकों ने राजस्व के नुकसान को लेकर आलोचना की थी.

    कुछ सांसदों - जिनमें नए प्रधानमंत्री क्रिस लक्सन भी शामिल हैं - ने यह भी तर्क दिया कि प्रतिबंध से तंबाकू (सिगरेट) का काला बाजार बढ़ जाएगा.

    Expand
  3. 3. सिगरेट पर हटाए गए बैन को कैसे देखते हैं एक्सपर्ट?

    स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने अचानक हुए इस उलटफेर की कड़ी आलोचना की है. दरअसल न्यूजीलैंड में मौतों का प्रमुख कारण धूम्रपान रहा है और इस नीति का उद्देश्य युवा पीढ़ियों को इस आदत को अपनाने से रोकना था. लेकिन अब इसे वापस ले लिया गया है जिससे स्वास्थ्य विशेषज्ञ नाराज हैं.

    बीबीसी के मुताबिक, ओटागो विश्वविद्यालय में तंबाकू नियंत्रण शोधकर्ता और सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ प्रोफेसर रिचर्ड एडवर्ड्स ने कहा:

    "हम स्तब्ध और निराश हैं... यह कदम न्यूजीलैंड को पीछे ले जाएगा."

    जानकारी के मुताबिक, रद्द किया गया धूम्रपान मुक्त कानून हर साल 5,000 लोगों की जान बचा सकता है.

    हालांकि कुछ विशेषज्ञ ये मान सकते हैं कि सिगरेट पर लगे बैन को हटाने से राजस्व में बढ़ोतरी होगी.

    Expand
  4. 4. क्या कहते हैं आंकड़े?

    स्मोक फ्री न्यूजीलैंड के आंकड़ों के अनुसार:

    • न्यूजीलैंड की आबादी करीब 52 लाख है

    • हर दिन 3,31,000 लोग सिगरेट का सेवन करते हैं

    • हर दिन धूम्रपान करने वाले 1,21,000 लोग माऊरी हैं जो न्यूजीलैंड के मूल निवासी हैं

    • हर दिन धूम्रपान करने वाले 34,000 लोगों की उम्र 18 से 24 साल की है

    • पिछले एक साल में 84,000 लोगों ने धूम्रपान छोड़ा

    (हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

    Expand

क्या था सिगरेट बैन पर कानून?

न्यूजीलैंड में धूम्रपान को चरणबद्ध तरीके से खत्म करने के लिए न्यूजीलैंड ने सबसे पहले अपनी अगली पीढ़ी के लिए तंबाकू की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए कानून पारित किया था.

कानून के तहत 2008 के बाद जन्मा कोई भी व्यक्ति अपने जीवनकाल में सिगरेट या तंबाकू नहीं खरीद सकेगा. स्वास्थ्य मंत्री डॉ आयशा वेराल ने कहा था, "हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि युवा कभी भी धूम्रपान शुरू न करें."

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्यों सिगरेट बैन पर कानून रद्द हुआ?  

न्यूजीलैंड में जैसिंडा अर्डर्न के नेतृत्व वाली पिछली सरकार सिगरेट बैन को लेकर कानून लाई थी जिसे क्रिस्टोफर लक्सन की नई सरकार ने वापस ले लिया है. नई सरकार का कहना है कि इससे होने वाली कमाई के बाद लोगों को टैक्स में राहत दी जा सकेगी.

पिछले कानून का न्यूजीलैंड के कुछ व्यापारिक समूहों ने विरोध किया था. कई दुकानों के मालिकों ने राजस्व के नुकसान को लेकर आलोचना की थी.

कुछ सांसदों - जिनमें नए प्रधानमंत्री क्रिस लक्सन भी शामिल हैं - ने यह भी तर्क दिया कि प्रतिबंध से तंबाकू (सिगरेट) का काला बाजार बढ़ जाएगा.

0

सिगरेट पर हटाए गए बैन को कैसे देखते हैं एक्सपर्ट?

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने अचानक हुए इस उलटफेर की कड़ी आलोचना की है. दरअसल न्यूजीलैंड में मौतों का प्रमुख कारण धूम्रपान रहा है और इस नीति का उद्देश्य युवा पीढ़ियों को इस आदत को अपनाने से रोकना था. लेकिन अब इसे वापस ले लिया गया है जिससे स्वास्थ्य विशेषज्ञ नाराज हैं.

बीबीसी के मुताबिक, ओटागो विश्वविद्यालय में तंबाकू नियंत्रण शोधकर्ता और सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ प्रोफेसर रिचर्ड एडवर्ड्स ने कहा:

"हम स्तब्ध और निराश हैं... यह कदम न्यूजीलैंड को पीछे ले जाएगा."

जानकारी के मुताबिक, रद्द किया गया धूम्रपान मुक्त कानून हर साल 5,000 लोगों की जान बचा सकता है.

हालांकि कुछ विशेषज्ञ ये मान सकते हैं कि सिगरेट पर लगे बैन को हटाने से राजस्व में बढ़ोतरी होगी.

ADVERTISEMENT

क्या कहते हैं आंकड़े?

स्मोक फ्री न्यूजीलैंड के आंकड़ों के अनुसार:

  • न्यूजीलैंड की आबादी करीब 52 लाख है

  • हर दिन 3,31,000 लोग सिगरेट का सेवन करते हैं

  • हर दिन धूम्रपान करने वाले 1,21,000 लोग माऊरी हैं जो न्यूजीलैंड के मूल निवासी हैं

  • हर दिन धूम्रपान करने वाले 34,000 लोगों की उम्र 18 से 24 साल की है

  • पिछले एक साल में 84,000 लोगों ने धूम्रपान छोड़ा

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्या था सिगरेट बैन पर कानून?

न्यूजीलैंड में धूम्रपान को चरणबद्ध तरीके से खत्म करने के लिए न्यूजीलैंड ने सबसे पहले अपनी अगली पीढ़ी के लिए तंबाकू की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए कानून पारित किया था.

कानून के तहत 2008 के बाद जन्मा कोई भी व्यक्ति अपने जीवनकाल में सिगरेट या तंबाकू नहीं खरीद सकेगा. स्वास्थ्य मंत्री डॉ आयशा वेराल ने कहा था, "हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि युवा कभी भी धूम्रपान शुरू न करें."

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्यों सिगरेट बैन पर कानून रद्द हुआ?  

न्यूजीलैंड में जैसिंडा अर्डर्न के नेतृत्व वाली पिछली सरकार सिगरेट बैन को लेकर कानून लाई थी जिसे क्रिस्टोफर लक्सन की नई सरकार ने वापस ले लिया है. नई सरकार का कहना है कि इससे होने वाली कमाई के बाद लोगों को टैक्स में राहत दी जा सकेगी.

पिछले कानून का न्यूजीलैंड के कुछ व्यापारिक समूहों ने विरोध किया था. कई दुकानों के मालिकों ने राजस्व के नुकसान को लेकर आलोचना की थी.

कुछ सांसदों - जिनमें नए प्रधानमंत्री क्रिस लक्सन भी शामिल हैं - ने यह भी तर्क दिया कि प्रतिबंध से तंबाकू (सिगरेट) का काला बाजार बढ़ जाएगा.

0

सिगरेट पर हटाए गए बैन को कैसे देखते हैं एक्सपर्ट?

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने अचानक हुए इस उलटफेर की कड़ी आलोचना की है. दरअसल न्यूजीलैंड में मौतों का प्रमुख कारण धूम्रपान रहा है और इस नीति का उद्देश्य युवा पीढ़ियों को इस आदत को अपनाने से रोकना था. लेकिन अब इसे वापस ले लिया गया है जिससे स्वास्थ्य विशेषज्ञ नाराज हैं.

बीबीसी के मुताबिक, ओटागो विश्वविद्यालय में तंबाकू नियंत्रण शोधकर्ता और सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ प्रोफेसर रिचर्ड एडवर्ड्स ने कहा:

"हम स्तब्ध और निराश हैं... यह कदम न्यूजीलैंड को पीछे ले जाएगा."

जानकारी के मुताबिक, रद्द किया गया धूम्रपान मुक्त कानून हर साल 5,000 लोगों की जान बचा सकता है.

हालांकि कुछ विशेषज्ञ ये मान सकते हैं कि सिगरेट पर लगे बैन को हटाने से राजस्व में बढ़ोतरी होगी.

ADVERTISEMENT

क्या कहते हैं आंकड़े?

स्मोक फ्री न्यूजीलैंड के आंकड़ों के अनुसार:

  • न्यूजीलैंड की आबादी करीब 52 लाख है

  • हर दिन 3,31,000 लोग सिगरेट का सेवन करते हैं

  • हर दिन धूम्रपान करने वाले 1,21,000 लोग माऊरी हैं जो न्यूजीलैंड के मूल निवासी हैं

  • हर दिन धूम्रपान करने वाले 34,000 लोगों की उम्र 18 से 24 साल की है

  • पिछले एक साल में 84,000 लोगों ने धूम्रपान छोड़ा

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×