ADVERTISEMENT

भगवंत ने रखा केजरीवाल का ‘मान’, कॉमेडी से पंजाब के ‘किंग’ बनने का सफर

भगवंत मान ने धुरी विधानसभा सीट से जीत दर्ज की. 2019 में वो आम आदमी पार्टी के इकलौते सांसद थे और संगरूर से जीते थे.

Published
भगवंत ने रखा केजरीवाल का ‘मान’, कॉमेडी से पंजाब के ‘किंग’ बनने का सफर
i

पंजाब विधानसभा चुनाव के नतीजे (Punjab Assembly Election Result 2022) आ गए हैं और इसमें आम आदमी पार्टी (AAP) ने शानदार जीत दर्ज की है. आम आदमी पार्टी ने भगवंत मान (Bhagwant Mann) का चेहरा सामने रखकर चुनाव लड़ा और अब वो पंजाब के मुख्यमंत्री (Punjab CM) बनने जा रहे हैं. भगवंत मान ने धुरी विधानसभा (Dhuri Assembly Constituency) से चुनाव लड़ा और बड़े अंतर से जीता. भगवंत मान दो बार संगरूर लोकसभा से लगातार दो बार सांसद रहे हैं. हालांकि पहले भी भगवंत मान ने लेहरागागा से पंजाब पीपुल्स पार्टी और जलालाबाद से आप की टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था लेकिन वो जीत नहीं सके थे.

भगवंत मान फिलहाल धुरी विधानसभा सीट से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के दलवीर सिंह गोल्डी से 55 हजार से भी ज्यादा वोटों से हराया है.
ADVERTISEMENT

भगवंत मान के चेहरे ने प्रदेश में किया कमाल

अरविंद केजरीवाल के दिल्ली मॉडल और भगवंत मान के चेहरे को लेकर आम आदमी पार्टी पंजाब के चुनाव मैदान में कूदी थी. और भगवंत मान ने नवजोत सिद्धू से लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह और चरणजीत सिंह चन्नी को मात देते हुए 70 साल से चला आ रहा सिलसिला तोड़ दिया. अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वाली पिक्चर को यहां भी टेलीकास्ट किया जिसमें भले ही मेन हीरो केजरीवाल रहे हों लेकिन भगवंत मान ने भी बड़ी भूमिका निभाई है. उन्होंने गांव-गांव जाकर पैदल प्रचार किया और फ्रंट फुट पर बैटिंग की. 2019 में भगवंत मान आम आदमी पार्टी के इकलौते सांसद थे. उनकी इसी जीत ने आम आदमी पार्टी को उनके नाम पर सहमत होने में मदद की.

भगवंत मान- कॉमेडी से सियासत तक का सफर

एक वक्त था जब भगवंत मान कॉमेडी किया करते थे. इसकी झलक उनके संसद में दिये भाषणों और चुनावी भाषणों में भी झलकती थी. कई बार उनके इस मजाकिया अंदाज की वजह से विरोधी उन्हें नॉन सीरियस नेता भी कहते थे. उन्होंने इस बात का जिक्र आज अपने बयान में भी किया. उन्होंने कहा कि, विरोधी पार्टियों के नेताओं ने अरविंद केजरीवाल और मुझपर निजी टिप्पणी की, ग़लत शब्दों का इस्तेमाल किया. उनकी शब्दावली उन्हें मुबारक हो. उन्हें माफ कर दीजिए लेकिन आगे से सबको पंजाब के पौने तीन करोड़ पंजाबियों की इज्जत करनी पड़ेगी.

भगवंत मान को जानिए

भगवंत मान का जन्म 17 अक्टूबर 1973 को पंजाब के संगरूर जिले के सतोज गांव में हुआ था. उन्होंने पंजाब के संगरूर जिले के एस.यू.एस सरकारी कॉलेज से बीकॉम किया. और इंद्रप्रीत कौर से विवाह किया, बाद में साल 2015 में दोनों अलग हो गए, उनके दो बच्चे हैं.

फिल्मों में भी काम कर चुके हैं मान

भगवंत मान ने फिल्म ‘कचहरी’ से अपनी फिल्मी पारी की शुरुआत की, उन्होंने 2018 तक 12 से अधिक फिल्में की. भगवंत मान एक जमाने में कपिल शर्मा के साथ कॉमेडी किया करते थे और अब पंजाब के सरदार बन गए हैं.

ADVERTISEMENT

धुरी विधानसभा सीट का इतिहास

धुरी विधानसभा सीट पर पिछले दो चुनावों से कांग्रेस का कब्जा रहा है. 2012 में कांग्रेस के प्रत्याशी ने अकाली दल के उम्मीदवार को हराया था. 2017 में भी कांग्रेस उम्मीदवार दलवीर सिंह गोल्डी जीते थे और इस बार भगवंत मान का मुकाबला उन्हीं से माना जा रहा था. अकाली दल ने यहां प्रकाश चंद गर्ग को सियासी रण में उतारा था.

ADVERTISEMENT

धुरी सीट से कब कौन जीता

  • 1957- जसदेव सिंह, कांग्रेस

  • 1962- भान सिंह, सीपीआई

  • 1967- टी सिंह, कांग्रेस

  • 1969- संत सिंह, कांग्रेस

  • 1972- अचरा सिंह, सीपीआई

  • 1980 और 1977- संत सिंह ,अकाली दल

  • 1985- सुरिंदर सिंह, अकाली दल

  • 1992 और 1997- धनवंत सिंह, कांग्रेस

  • 2002- गगनजीत सिंह, अकाली दल

  • 2007- इकबाल सिंह, शिरोमणि अकाली दल

  • 2012- अरविंद खन्ना, कांग्रेस

  • 2015 (उपचुनाव)- गोबिंद सिंह लोंगोवाल, SAD

  • 2017- दरवीर सिंह गोल्डी, कांग्रेस

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, punjab-elections के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Punjab Election Result 2022 

ADVERTISEMENT
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×