ADVERTISEMENTREMOVE AD

विराट कोहली ने अनुष्का के नाम किया शतक, आलोचनाओं पर छलका दर्द

Virat Kohli ने लगभग तीन साल बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक लगाया.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

विराट कोहली (Virat Kohli) ने गुरुवार को अफगानिस्तान के खिलाफ वह कर दिखाया जिसका तीन साल से इंतजार था. 1021 दिन और 83 पारियों के बाद आखिरकार उनके बल्ले से शतक निकला. उन्होंने अपना 71वां अंतरराष्ट्रीय शतक जड़ दिया.

विराट ने दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए मैच में 61 गेंदों में 200 के स्ट्राइक रेट से 122 रनों की करिश्माई पारी खेली. उन्होंने अपनी पारी में छह छक्के और 12 चौके जड़े. कोहली की इस शतकीय पारी के बदौलत भारत ने अफगानिस्तान के खिलाफ 101 रनों की बड़ी जीत हासिल की.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

कोहली को उनके शानदार पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया. जिसके बाद उन्होंने अपने दिल की बात कही.

कोहली ने बताया कि इस बुरे दौर में अनुष्का शर्मा कैसे उन्हें प्रेरित करती रहीं. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि इस दौरना कई अर्धशतक लगाने के बावजूद भी उन्हें फ्लॉप माना गया.

अनुष्का का मिला साथ 

विराट कोहली ने शतक लगाने के बाद कहा,

“मैंने पहले भी खास शख्स के बारे में कहा था. अनुष्का, जो इन कठिन समय में मेरे साथ खड़ी रही. मेरे बुरे वक्त में वो मेरे साथ थी और उसने सब देखा. वह मुझे सही मार्गदर्शन देती रही. उसने मुझे चीजों को नए तरीके से देखना सिखाया और इस वजह से मैं रिलेक्स होकर वापस आया.”

आलोचकों को दिया जवाब 

विराट ने बल्ले के बाद अपने शब्दों से भी आलोचकों को करार जवाब दिया. उन्होंने कहा,

“ईमानदारी से कहूं तो मैंने अपनी पूरी ताकत से बल्लेबाजी की और खुद को चौंका दिया. मेरे 60-70 रन को भी फेलियर माना गया जो काफी चौंकाने वाला था. मैं वास्तव में किसी को कुछ भी नहीं बता सकता क्योंकि मैंने कहा कि भगवान ने मुझे अतीत में अच्छी चीजें दी हैं. इसलिए मैं इस स्थिति में हूं जहां इन चीजों के बारे में बात की जा सकती है.'
0

टीम का मिला साथ 

उन्होंने टीम और साथी खिलाड़ियों की सराहना करते हुए कहा,

"मैंने कुछ समय के लिए ब्रेक लिया और फिर नए सिरे से शुरुआत की और टीम के वातावरण का भी इसमें योगदान है. टीम ने मुझे तनावमुक्त और मेरे दृष्टिकोण को सही रखा."

बता दे कि इससे पहले विराट ने अपना आखिरी शतक 23 नवंबर 2019 को बांग्लादेश के खिलाफ लगाया था. उन्होंने 70वें और 71वें शतक के बीच कुल 72 मैचों में 26 अर्धशतक जड़े थे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें