ADVERTISEMENTREMOVE AD

CWG2022: पान की दुकान से सिल्वर मेडल तक, संघर्षों से भरा रहा संकेत सरगर का सफर

Sanket Sargar महाराष्ट्र के सांगली के रहने वाले है और तीन बार के नेशनल चैंपियन हैं

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

2022 राष्ट्रमंडल खेलों (2022 Commonwealth Games) में भारत का खाता 21 साल के वेटलिफ्टर संकेत सरगर ने खोला है, जिन्होंने 55 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक (Silver medal in CWG2022) जीता है. संकेत सरगर (Sanket Sargar) फाइनल में एक गोल्ड मेडल जीतने की तरफ बड़ रहे थे क्योंकि वे इसमें लीड कर रहे थे. लेकिन 'क्लीन एंड जर्क' दौर की दूसरी लिफ्ट में चोट लगने से उन्हें अंतिम प्रयास के रूप में 135 किलोग्राम की अपनी पहली लिफ्ट का इस्तेमाल करना पड़ा. संकेत सरगर महाराष्ट्र (Maharashtra) के कोल्हापुर में शिवाजी विश्वविद्यालय के छात्र हैं. वह महाराष्ट्र के सांगली के रहने वाले है और तीन बार के नेशनल चैंपियन हैं

ADVERTISEMENTREMOVE AD

पिता की है पान की दुकान, संघर्षो से भरा जीवन  

संकेत महाराष्ट्र के सांगली के एक साधारण परिवार से आते हैं. उनके पिता पान की दुकान चलाते हैं.संकेत सरगर दिसंबर 2021 में राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक विजेता थे. विशेष रूप से, सरगर ने एक स्थिर नौकरी पाने के लिए खूब संघर्ष किया और अपने पिता की पान की दुकान और खाने की दुकान में मदद करने में भी संघर्ष किया.

संकेत के पिता महादेव 1990 के दशक की शुरुआत में ग्रामीण इलाकों से सांगली आए थे. उन्होंने एक पान की दुकान खोलने के लिए पैसे बचाने से पहले एक गाड़ी से फल बेचे - बाद में संकेत ने पान और फिर उसके बगल में एक चाय और नाश्ते का स्टॉल खोला.

संकेत को स्पोर्ट्समैन बनने की प्रेरणा उनके पिता से ही मिली है. संकेत के पिता महादेव खुद एक स्पोर्ट्समैन बनना चाहते है. अपना सपना पूरा न हो पाने पर उन्होंने संकेत को इसमें बढ़ावा दिया.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×