ADVERTISEMENT

Amazon और Netflix की मेंबरशिप फीस में बदलाव के पीछे क्या है रणनीति?

पिछले दिनों अमेजन ने मेंबरशिप फीस में बढ़ोतरी की थी और नेटफ्लिक्स ने नया प्लान लॉन्च किया था

Published
Amazon और Netflix की मेंबरशिप फीस में बदलाव के पीछे क्या है रणनीति?
i

पिछले दिनों अमेजन (Amazon) ने अपने प्राइम वीडियो प्लान की कीमतों 500 रुपये तक बढ़ोतरी की है. वहीं दूसरी ओर देखा जाए तो नेटफ्लिक्स (Netflix) ने एक नया प्लान लॉन्च किया है, जो 150 रुपये से कम का है.

अमेजन को जो प्लान पहले 129 रुपये में मिलता था, वो अब 179 रुपये में मिलेगा. नेटफ्लिक्स 149 रूपए का एक नया प्लान लेकर आया है.

ADVERTISEMENT
अमेजन का 329 रुपये वाला प्लान अब यूजर्स को 459 रुपये में मिलेगा, इसी के साथ अमेजन के एक साल के प्लान की कीमत बढ़ोतरी होने के बाद 1499 रुपये हो गई है.

Netflix द्वारा लिए गए फैसले के पीछे की क्या है वजह?

इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले दिनों नेटफ्लिक्स इंडिया की वाइस प्रेसिडेंट मोनिका शेरगिल ने कहा कि कीमतों में कटौती की वजह कंटेंट स्ट्रैटेजी और नए कंटेंट के आने से जुड़ी है. उन्होंने कहा कि पिछले कई हफ्तों से हम बड़े टाइटल्स को रोल आउट कर रहे हैं, नेटफ्लिक्स कैलेंडर के मुताबिक हमारे पास सीरीज में कुछ बड़े कन्टेंट और फिल्में बराबर आ रही हैं. ये उस तरह की सामग्रियां हैं जिसे बहुत बड़े दर्शकों के लिए प्रोग्राम किया जाता है.

एलारा कैपिटल (Elara Capital) के सीनियर वॉइस प्रेसीडेंट करन तौरानी ने कहा कि एनालिस्ट्स के मुताबिक नेटफ्लिक्स दर्शकों के एक बड़े समूह की ओर जा रहा है और उनकी सर्विस को और अधिक किफायती बनाना ब्रॉडकास्टर-ओटीटी ऐप्स के लिए घातक होगा क्योंकि कॉम्पटिशन दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है. इस वजह से उनके ARPUs (प्रति यूजर एवरेज रेवेन्यू) पर भी नियंत्रण हो सकता है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक एक्सपर्ट्स इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि दुनिया भर में नेटफ्लिक्स के 21.4 करोड़ पेड सब्सक्राइबर्स हैं, जिनमें से 3 करोड़ एशिया से संबंध रखते हैं.

पिछले साल, नेटफ्लिक्स यूजर्स की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी देखी गई है, हालांकि इस साल मेंबरशिप धीमी होने लगी थी. कीमत कम होने के पीछे शायद यही वजह रही होगी.

Amazon की मेंबरशिप कीमतों के बढ़ने की वजह

The Motley Fool की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रायन नोवाक एनासिस्ट, मॉर्गन स्टेनली के मुताबिक अमेजन मेंबरशिप में बढ़ोतरी करने से इसकी सैलरी में बढ़ोतरी को कवर करने में मदद मिलेगी, जिसमें हजारों कर्मचारी शामिल थे और प्रति यूनिट लेबर कॉस्ट में 50% तक की बढ़ हो सकती है. इस प्रकार फुलफिलमेंट सर्विस फीस में सिंगल-डिजिट पर्सेंटेज बढ़ोतरी उन लागतों को पूरी तरह से ऑफसेट नहीं करेगी, लेकिन यह निश्चित तौर पर मदद करेगी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×