लॉकडाउन में आपकी कार और बाइक न हो जाए बेकार, याद रखिए ये 4 बातें
 लॉकडाउन के दौरान आपकी कार और बाइक को आपकी देखरेख की जरूरत है.
लॉकडाउन के दौरान आपकी कार और बाइक को आपकी देखरेख की जरूरत है.फोटो:क्विंट

लॉकडाउन में आपकी कार और बाइक न हो जाए बेकार, याद रखिए ये 4 बातें

पूरे देश में लॉकडाउन की वजह से लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं, अपनी बाइक या कार का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं. जहां कोरोना संकट पर काबू पाने के लिए ये एक जरूरी कदम है, अगले तीन हफ्ते के लॉकडाउन के दौरान आपकी कार और बाइक को आपकी देखरेख की जरूरत है.

Loading...

ज्यादातर नई कार और बाइक बिना किसी परेशानी के एक महीना बिना इस्तेमाल के रह सकती हैं. लेकिन पुरानी गाड़ियों में रख-रखाव से संबंधित दिक्कतें आ जाती हैं. ये सिर्फ बैटरी की बात नहीं है, ज्यादा नमी वाले इलाकों या फिर तटीय क्षेत्र या ज्यादा बारिश वाले इलाकों में जंग और फफूंद की परेशानियां बहुत बढ़ जाती हैं.

हम आपको एक-एक कर सारी परेशानियों और उनके निपटारे के बारे में बताते हैं.

1.डेड बैटरी

अगर एक महीने से ज्याद समय तक वाहन का उपयोग नहीं किया जाता है तो बैटरियों को हटा दिया जाना चाहिए
अगर एक महीने से ज्याद समय तक वाहन का उपयोग नहीं किया जाता है तो बैटरियों को हटा दिया जाना चाहिए
फोटो:क्विंट

अगर आपकी कार या बाइक में लगी बैटरी तीन साल से ज्यादा पुरानी है, तो हो सकता है ये पहले की तरह लंबे समय तक चार्ज ना रहे. अगर गाड़ियां कई हफ्तों तक इस्तेमाल नहीं होती तो इनकी बैटरी मर सकती है. सेंट्रल लॉकिंग सिस्टम पर बंद कारों को लगातार पावर की जरूरत होती है, इसलिए थोड़ी बैटरी हमेशा खर्च होती रहती है.

इससे बचने के लिए - अगर आप जानते हैं कि लंबे समय तक गाड़ी का इस्तेमाल नहीं करना है - आप बैटरी को डिस्कनेक्ट कर सकते हैं. इसके लिए आप गाड़ी में बैटरी की जगह ढूंढे, उसके टर्मिनल को ढीला करें और बैटरी का कनेक्शन हटा दें. बैटरी के खर्च को रोकने के लिए इतना करना काफी है.

अगर बैटरी डेड हो जाती है तो आपको इसे जंप-स्टार्ट करना होगा. इसके लिए आपको किसी दूसरे कार या बाइक वाले की मदद लेनी जिसकी बैटरी पूरी तरह चार्ज हो, इसके अलावा आपको एक जंपर केबल की भी जरूरत पड़ेगी.

गाड़ी को जंप-स्टार्ट कैसे करें

  • जो गाड़ी ठीक है उसे स्टार्ट कर उसका इंजन चलता छोड़ दें.
  • उस गाड़ी की बैटरी के पॉजिटिव टर्मिनल को जंपर केबल के जरिए बंद पड़ी गाड़ी की बैटरी के पॉजिटिव टर्मिनल से जोड़ें.
  • गाड़ी की निगेटिव टर्मिनल को बंद पड़ी गाड़ी में किसी मेटल बोल्ट से जोड़ें (ताकि बैटरी में स्पार्क ना हो).
  • बंद पड़ी गाड़ी को स्टार्ट करें और ऊपर की पूरी प्रकिया को उल्टा दोहराते हुए डिस्कनेक्ट कर दें.

2. गाड़ी की सतह पर जंग

अगर आप बारिश या नमी वाले इलाके में रहते हैं और गाड़ी खुली जगह में पार्क की गई है, बहुत मुमकिन है कि गाड़ी के मेटल वाले खुले हिस्सों में जंग लगनी शुरू हो जाए. इसका ख्याल नहीं रखा गया तो धीरे-धीरे पूरी गाड़ी में जंग लग सकती है.

जंग को रोका जा सकता है. कार या बाइक को लंबे समय तक पार्क करने से पहले इसकी पूरी तरह सफाई करनी चाहिए और वैक्स से एक बार इसकी पॉलिश करनी चाहिए. आप गाड़ी के ज्वाइंट वाले हिस्सों और नट-बोल्ट वैगरह पर Anti-rust स्प्रे (जैसे कि WD40 या जॉरिक) लगा सकते हैं जिससे कि नमी का इस पर कोई असर ना हो.

मुमकिन हो तो वॉटर-प्रूफ कवर भी खरीद लें. नहीं तो गाड़ी पर धूल जमा होने से रोकने के लिए बीच-बीच में इसकी सफाई कराएं, क्योंकि ये धूल-मिट्टी नमी के साथ मिलकर गाड़ी में जंग लगा सकते हैं.

3.फफूंद की परेशानी

लंबे समय तक नमी के माहौल में गाड़ी खुले में पार्क रहने से जंग के अलावा लेदर और रबर पर फफूंद लगने की भी संभावना रहती है. इसकी वजह से ना

सिर्फ गाड़ी में बदबू आती है बल्कि स्वास्थ्य संबंधी परेशानी भी आ सकती है.

इसलिए गाड़ी को खड़ी करने से पहले अंदर के हिस्से को पूरी तरह साफ करें और कारपेट पर Anti-fungal पाउडर का छिड़काव कर दें. परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है, इसे बाद में आसानी से साफ किया जा सकता है. इसके अलावा गाड़ी की सीट पर अच्छी क्वॉलिटी का leather polish का इस्तेमाल करें. और नमी को रोकने के लिए गाड़ी में कहीं पर Absorbia या Silica Gel रख दें.

4.ब्रेक जाम से कैसे बचें

कार या बाइक लंबे समय तक बाहर खड़ी हो तो ब्रेक संबंधी परेशानियां भी सामने आ जाती हैं. कार को अगर काफी दिनों तक हैंडब्रेक लगा कर छोड़ दिया जाए तो ब्रेक पैड जाम हो सकता है या जैसा कि ड्रम ब्रेक के साथ होता है – ब्रेक शूज ड्रम में अटक सकते हैं. ऐसा खास तौर पुरानी गाड़ियों के साथ होता है जिसमें ब्रेक में धूल जमा हो जाती है और नमी की हालत में ब्रेक जाम होने का खतरा बना रहता है.

ब्रेक जाम होने पर गाड़ी को आगे-पीछे करना मुश्किल हो जाता है और पहियों से आवाजें आने लगती हैं. इसे ठीक करने के लिए स्क्रूडाइवर या हथौड़े के पिछले हिस्से से ब्रेक कैलिपर या ब्रेक ड्रम के पीछे हल्का ठोकें. इसके बाद कैलिपर पिन पर (डिस्क पर नहीं) WD40 जैसा lubricant लगाएं.

जो कार या बाइक 6 महीने या इससे ज्यादा समय से इस्तेमाल नहीं हुई हैं उनमें ऑयल या ग्रीज भी बेकार हो जाती हैं. इसलिए सबसे पहले इन गाड़ियों की सर्विस करानी चाहिए, और जरूरत हो तो ऑयल और कूलेंट जैसी चीजें बदल देनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: LIVE कटरा में वैष्णो देवी मंदिर भक्तों के लिए बंद किया गया

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our कार और बाइक section for more stories.

    Loading...