MP: सर पर हिजाब गले में गमछा,ऐसी हैं BJP की अकेली मुस्लिम कैंडिडेट

MP: सर पर हिजाब गले में गमछा,ऐसी हैं BJP की अकेली मुस्लिम कैंडिडेट

वीडियो

सर पर काले रंग का हिजाब, गले में भगवा रंग का गमछा और उस गमछे पर कमल का फूल. मतलब बीजेपी का चुनाव चिन्ह. ये हैं मध्यप्रदेश में बीजेपी की इकलौती मुस्लिम एमएलए कैंडिडेट. नाम है फातिमा रसूल सिद्दीकी.फातिमा कांग्रेस के पूर्व विधायक रसूल अहमद सिद्दीकी की बेटी हैं. रसूल अहमद सिद्दीकी 90 के दशक में भोपाल उत्तर सीट से 2 बार कांग्रेस विधायक रह चुके हैं.

230 सीटों वाली मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने सिर्फ एक मुस्लिम कैंडिडेट को मैदान में उतरा है. फातिमा को बीजेपी ने भोपाल नार्थ से टिकट दिया है.

भोपाल नार्थ में करीब 50 फीसदी मुस्लिम वोटर हैं. इस पुरे सियासी खेल में एक और दिलचस्प बात ये है कि फातिमा के सामने लगातार पांच बार से चुनाव जीतते आ रहे कांग्रेस के आरिफ अकील हैं. आरिफ अकील ने 1992 के विधानसभा चुनाव में जनता दल के उम्मीदवार के तौर पर इस सीट पर कब्जा जमाया था. उसके बाद वो कांग्रेस में शामिल हो गए और तबसे लगातार चुनाव जीतते आ रहे हैं.

मेडिकल की स्टूडेंट और एक बच्चे की मां फातिमा बताती हैं कि उनका परिवार कांग्रेसी था, लेकिन अब कांग्रेस में वो बात नहीं रही और कांग्रेस ने भी उन लोगों को राजनीति में जगह नहीं दी.

ये भी पढ़ें- MP: ‘व्यापम घोटाले में Cong-BJP दोनों शामिल इसलिए नहीं हो रही बात

बीजेपी मुस्लिमों को टिकट नहीं देती है इस सवाल पर फातिमा कहती हैं,

मैं खुद ही हैरान हो गई जब मैंने बीजेपी जाॅइन किया तो देखा कि इस कदर मुसलमान बीजेपी से जुड़े हुए हैं. आपको आगे और लोग जुड़ते दिखेंगे. ये एक अच्छी शुरुआत है. मुझे ऐसा लगने लगा है कि हमारे अब्बा के जमाने में जो कांग्रेस हुआ करती थी वो अब वैसी नहीं रही लोग अलग राजनीति कर रहे हैं.

भोपाल में जीत के लिए बीजेपी को है इंतजार

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में भोपाल उत्तर की ये सीट बीजेपी के लिए नाक का सवाल बनी हुई है. मुस्लिम बहुल सीट पर एक महिला और वो भी मुस्लिम उम्मीदवार को उतारकर बीजेपी ने अपना सियासी कार्ड चल दिया है. फातिमा ने एक दिन पहले बीजेपी ज्वाइन किया और अगले दिन उन्हें बीजेपी ने अपना उम्मीदवार भी बना दिया. यही नहीं फातिमा के चुनावी कार्यालय का उद्घाटन खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया. एक उम्मीदवार के चुनावी कार्यालय में सीएम का आना ही इस सीट की अहमियत बता देता है.

ये भी पढ़ें- MP चुनाव: बीड़ी का चौपट धंधा, कहीं BJP की सेहत न कर दे खराब

(यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)

Follow our वीडियो section for more stories.

वीडियो

    वीडियो