ADVERTISEMENTREMOVE AD

कानपुर डेमोलिशन के दौरान मां-बेटी की मौत कैसे हुई? Video देख काफी कुछ समझ आ रहा

Kanpur Demolition Viral video: वायरल वीडियो में जलती झोपड़ी पर बुलडोजर चढ़ता दिख रहा है

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

'बुलडोजर' ने यूपी के कानपुर में एक मां और उनकी बेटी की जान ले ली. कानपुर देहात में सरकारी अमला अतिक्रमण हटाने आया था. लेकिन जिस झोपड़ी को गिराना था, उसमें आग लगी और मां-बेटी की जलकर मौत हो गई. पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने झोपड़ी में आग लगाई लेकिन पुलिस का दावा है कि महिलाओं ने खुद ही आग लगा ली. तो आखिर सच है क्या? घटना के समय का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें काफी कुछ समझ में आ रहा है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

परिवार के भारी विरोध के बावजूद बुलडोजर बढ़ता गया

मरने वालों के नाम प्रमिला दीक्षित, 44 और उनकी बेटी नेहा, 21 हैं. घटना के समय का एक वीडियो सामने आया है जिसमें देखा जा सकता है कि परिवार डेमोलिशन का भारी विरोध कर रहा है. प्रमिला दीक्षित झोपड़ी का दरवाजा बंद कर लेती हैं. उस समय प्रमिला के पति कृष्ण गोपाल दीक्षित भी झोपड़ी में ही दिखते हैं. पुलिस वाले सबको बाहर आने को कहते हैं. थोड़ी देर बाद पुलिस वाले दरवाजा खुलवाते हैं. तभी महिला की आवाज आती है कि इन लोगों ने आग लगा दी. उसी वक्त एक पुरुष की भी आवाज सुनाई पड़ती है, जिसमें वो कह रहा - आग लग गई. इसके बाद चारों तरफ चीख पुकार मच जाती है. पुलिस वाले इधर उधर भागते हैं. महिलाओं को बाहर आने को कहते हैं लेकिन कोई उन्हें खींचकर बाहर नहीं लाता है. अभी तक आग छप्पर में ही लगी थी. थोड़ी सी कोशिश की जाती तो महिलाओं को बाहर निकाला जा सकता था. फिर वीडियो में दिखता है कि एक पुलिस वाला बुलडोजर को आगे बढ़ने का इशारा करता है. बुलडोजर जलती हुई झोपड़ी को गिराने लगता है. और फिर पूरी झोपड़ी स्वाहा हो जाती है और साथ में दो जिंदगियां भीं.

हम अंदर ही थे कि उन्होंने घर में आग लगा दी. किसी तरह मैं और मेरे पिता बचकर निकल गए लेकिन मेरी मां और बहन नहीं बचीं
शिवम दीक्षित, प्रमिता के बेटे
हमें यही पता चला है कि अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान एक महिला और उनकी बेटी ने खुद को झोपड़ी में बंद कर लिया और खुद ही आग लगा ली. हम जांच कर रहे हैं. कुछ गलत हुआ है तो हम सख्त एक्शन लेंगे.
BBGTS मूर्ति, एसपी, कानपुर देहात

39 लोगों के खिलाफ FIR

पुलिस ने इन मौतों के बाद 39 लोगों पर हत्या, हत्या की कोशिश आदि धाराओं में केस दर्ज किया है. इनमें 9 लोग नामजद हैं और 30 अज्ञात. नामजदों में SDM और SHO भी हैं. परिवार ने मुआवजे में 5 करोड़ रुपये, मकान और आजीवन पेंशन की मांग की है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×