ADVERTISEMENT

पहाड़ों पर बरसी आफत, बहकर पहुंची उत्तर प्रदेश - कई इलाके हुए जलमग्न

Floods| मुरादाबाद, रामपुर ,बरेली, पीलीभीत समेत उत्तर प्रदेश के कई इलाके बाढ़ में डूबे

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

खराब मौसम के कारण पहाड़ी इलाको में जो आफत आई उसका असर अब निचले इलाको में भी देखने को मिल रहा है. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई जिलों से ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें देखा जा सकता है कि रिहायशी इलाके पानी में डूब चुके हैं. घरों के अंदर पानी घुस चुका है.

जहां एक ओर उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) जनपद में बाढ़ के कारण कई ट्रेनों को रद्द किया गया है, वहीं बरेली (Bareilly) जिले में भी बाढ़ के कारण फसल डूब जाने से किसानों के बड़े नुकसान की खबर है.

ADVERTISEMENT

उत्तराखंड में हुई बेमौसम बरसात से बिगड़े हालात

जानकारों के अनुसार पहाड़ो में बीते कुछ दिनों से जो बरसात हुई है उसका असर उत्तर प्रदेश के कई शहरों में देखने को मिल रहा है. बीते दिनों उत्तराखंड में हुई बरसात से पहाड़ों पर काफी मुसीबत आन पड़ी थी और जिसके कारण 50 से ज्यादा लोगों को जान तक गंवानी पड़ी थी.

उसी का असर उत्तराखंड से सटे उत्तर प्रदेश के बरेली, मुरादाबाद और रामपुर में देखने को मिला. जिला बरेली के बहेड़ी में किसानों की फसलों से लेकर पुलिस थाने तक पानी में डूब गए.

बाढ़ के पानी के कारण दिल्ली लखनऊ हाईवे (NH9) के भी प्रभावित होने की खबर है.

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में शारदा नदी में आए उफान के कारण आसपास के गांव वालों को तबाही का मंजर देखना पड़ा. बाढ़ के कारण किसानों की फसलें पूरी तरह से बर्बाद हो गईं.

ADVERTISEMENT

वरुण गांधी ने की मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप की मांग

पीलीभीत में शारदा नदी में उठे उफान के कारण किसानों की फसल की जो बर्बादी हुई पीलीभीत सांसद वरुण गांधी उसका जायजा लेने पहुंचे.

इलाके का मुआयना करने के बाद सांसद वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर किसानों के नुकसान के बारे में बताया. इसके साथ ही सांसद वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री से किसानों को उनकी फसल के नुकसान की भरपाई करने की भी मांग की.

सिर्फ इतना ही नहीं मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में वरुण गांधी ने किसानो को फसल बीमा और विशेष पैकेज दिए जाने के लिए भी मुख्यमंत्री से गुजारिश की.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×