जौनपुर यूनिवर्सिटी VC के ‘ज्ञान’ का असर,  कुंदन बना कत्‍ली!

जौनपुर यूनिवर्सिटी VC के ‘ज्ञान’ का असर,  कुंदन बना कत्‍ली!

वीडियो

कैमरा: शिव कुमार मौर्या

वीडियो एडिटर: राहुल शांपुई

एक्टर- शौभिक पालित, वैभव पलनीटकर, सुमित बडोला

मिलिए कुंदन कत्ली से...जिसके नाम ने पूरे जौनपुर और पूर्वांचल में लोग थर-थर कांपते हैं. कत्ल करना इसका शौक और पेशा दोनों है. किसी की जान लेना इसका रोज का काम है.

वैसे ये शुरू से खूनी नहीं था. ये तो एक होनहार स्टूडेंट हुआ करता था. स्कूल में हमेशा फर्स्ट आता था. बनना था कलेक्टर, लेकिन बन गया सुपारी किलर. इसके पीछे एक दिलचस्प कहानी है.

VC के बयान से बन गया हैवान

कुंदन जौनपुर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट हुआ करता था. हुआ यूं कि एक बार यूनिवर्सिटी के बाहर कुछ लड़कों से कुंदन का झगड़ा हो गया. वो तीन थे, और कुंदन अकेला. उसे कायदे से पीट दिया गया. वो सीधा-साधा था, तो कुछ न कर पाया. लंगड़ाते हुए अपने कुलपति जी, प्रोफेसर राजाराम यादव के पास आया, और जोर-जोर से लगा उनके सामने रोने. उसको रोते देख कुलपति जी बोले-

“अगर आप पूर्वांचल यूनिवर्सिटी के छात्र हो तो रोते हुए मेरे पास कभी मत आना. अगर किसी से झगड़ा हो जाए तो उसकी पिटाई करके आना और तुम्हारा बस चले तो उसका मर्डर करके आना, उसके बाद हम देख लेंगे.”

ये सुनकर कुंदन तो जैसे आसमान से गिरा. उसके दिल से आवाज निकली कि 'प्रोफेसर राजाराम यादव जी जैसे परम पूज्य महापुरुष सदियों में एक बार धरती पर अवतार लेते हैं. उसने उनको साष्टांग प्रणाम किया और लौट आया.

इसके बाद ऐसा लाख टके का 'गुरुज्ञान' पाकर कुंदन ने सोचा कि पढ़-लिखकर अफसर बनकर क्या होगा? डिग्री किस काम आएगी? इसलिए उसने फेंक दी किताबें, उठा लिया तमंचा और बन गया सुपारी किलर.

कुंदन बता रहा है कि कुलपति जी की नसीहत के बाद जौनपुर यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए आजकल छात्रों में होड़ मची हुई है. यूनिवर्सिटी ने कुछ नए कोर्स शुरू करने का फैसला किया है. ये कोर्स कुछ ऐसे होंगे-

  • BA In अराजकता
  • BA (Hons) In गुंडागर्दी
  • MA In पिटाईशास्त्र
  • MA In उपद्रवशास्त्र
  • PG Diploma In Contract Killing
  • Certificate Course In Violence Studies
  • MSc In Murder Techniques
  • Phd In Cold Blooded Murder

(इस काल्पनिक और व्यंग्यात्मक वीडियो को बनाने की प्रेरणा हमें VBS पूर्वांचल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर राजाराम यादव के उस विवादित बयान से मिली, जो उन्होंने 28 दिसंबर 2018 को गाजीपुर के एक कार्यक्रम में दिया था.)

ये भी देखें - TRAI का नया टैरिफ: क्या महंगा हो जाएगा केबल टीवी?

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के WhatsApp या Telegram चैनल से)

Follow our वीडियो section for more stories.

वीडियो

    वीडियो