Mother’s Day:आज है मदर्स डे, जानें कैसे हुई इसकी शुरुआत
Mother’s Day 2019: मई के दूसरे रविवार को ही क्यों मनाया जाता है मदर्स डे, जानें
Mother’s Day 2019: मई के दूसरे रविवार को ही क्यों मनाया जाता है मदर्स डे, जानें(फोटो: PTI)

Mother’s Day:आज है मदर्स डे, जानें कैसे हुई इसकी शुरुआत

दुनिया भर में आज मदर्स डे मनाया जा रहा है. वैसे तो हर दिन मां के नाम ही होता है लेकिन आज के बिजी लाइफस्टाइल में लोग अपनी मां को ज्यादा समय नहीं दे पाते हैं. ऐसे में मदर्स डे (Mother's Day) उन्हें अपनी भावनाओं को जाहिर करने का मौका जरूर दे देता है. मदर्स डे ज्यादातर देशों में मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है. लेकिन कई देशों में अलग-अलग तारीख पर भी इसे सेलिब्रेट किया जाता है.

Loading...

जानें कैसे हुई Mother's Day की शुरुआत

मदर्स डे को लेकर कई तरह की कहानियां है. कुछ का मानना है कि मदर्स डे के इस खास दिन की शुरुआत अमेरिका से हुई थी. वर्जिनिया में एना जार्विस नाम की महिला ने मदर्स डे की शुरुआत की. कहा जाता है कि एना अपनी मां से बहुत प्यार करती थीं और उनसे बहुत प्रेरित थीं. उन्होंने कभी शादी नहीं की. मां का निधन हो जाने के बाद उन्होंने उनके प्रति सम्मान दिखाने के लिए इस खास दिन की शुरुआत की. ईसाई समुदाय के लोग इस दिन को वर्जिन मेरी का दिन मानते हैं. यूरोप और ब्रिटेन में मदरिंग संडे भी मनाया जाता है.

इसके अलावा Mother’s Day से जुड़ी एक और कहानी है जिसके अनुसार, मदर्स डे की शुरुआत ग्रीस से हुई थी. ग्रीस के लोग अपनी मां का बहुत सम्मान करते हैं. इसलिए वो इस दिन उनकी पूजा करते थे. मान्यताओं के अनुसार, स्यबेसे ग्रीक देवताओं की माता थीं और मदर्स डे पर लोग उनकी पूजा करते थे.

रविवार को मनाया जाता है Mother's Day

9 मई 1914 को अमेरिकी प्रेसिडेंट वुड्रो विल्सन ने एक कानून पास किया था. इस कानून में लिखा था कि मई के दूसरे रविवार को मदर्स डे मनाया जाएगा. इसी के बाद से भारत समेत कई देशों में ये खास दिन रविवार के दूसरे रविवार को मनाया जाने लगा. मदर्स डे के खास मौके पर बच्चे अपनी मां को विश करते हैं और कई तरह के तोहफे देते हैं.

ये भी पढ़ें : वीकएंड पर बाहर जाने का मन है? इन हिल स्टेशन्स पर बिताएं छुट्टियां 

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our साड्डा हक section for more stories.

    Loading...