OMG ! पिछले 33 साल से सिर्फ चाय पीकर जिंदा हैं ये ‘चाय वाली चाची’
पीली देवी ने 11 साल की उम्र में खाना छोड़ दिया था.
पीली देवी ने 11 साल की उम्र में खाना छोड़ दिया था.(फोटो: altered by Quint Hindi)

OMG ! पिछले 33 साल से सिर्फ चाय पीकर जिंदा हैं ये ‘चाय वाली चाची’

सर्दियों के मौसम में अदरक वाली चाय की एक गरम प्याली से चुस्की लेने में जो मजा है, वो सिर्फ चाय पीने के शौकीन लोग ही समझ सकते हैं. लेकिन क्या आप सिर्फ चाय पर ही जिंदा रहने की कल्पना कर सकते हैं? छत्तीसगढ़ की रहने वाली एक महिला पिछले 33 सालों से सिर्फ चाय पी रही है. बताया जाता है कि वो महिला 'पूरी तरह से स्वस्थ है'. डॉक्टर भी ये देखकर हैरान हैं कि आखिर ऐसा कैसे मुमकिन है.

Loading...

11 साल की उम्र में छोड़ दिया खाना

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के बरदिया गांव में रहने वाली 44 साल की पीली देवी ने 11 साल की उम्र में खाना छोड़ दिया था. तब से अब तक वो चाय पीकर ही जिंदा हैं. अपनी अनोखी लाइफस्टाइल के लिए मशहूर इस महिला को स्थानीय लोग 'चाय वाली चाची’ कहकर बुलाते हैं. उनके पिता रति राम के मुताबिक जब पीली देवी छठी क्लास में पढ़ती थी, तब से उन्होंने खाना छोड़ दिया.

“हमारी बेटी कोरिया जिले के जनकपुर में पटना स्कूल से एक जिला स्तरीय टूर्नामेंट में हिस्सा लेने गई थी. जब वो वहां से वापस लौटी, तो उसने अचानक खाना और पानी पीना छोड़ दिया.”
-रति राम, पीली देवी के पिता

पीली देवी के पिता ने ये भी बताया कि शुरुआत में वो दूध में बनी की चाय के साथ बिस्कुट और ब्रेड खाया करती थी, लेकिन इसके बाद धीरे-धीरे वो सिर्फ बिना दूध वाली चाय (ब्लैक टी) पीने लगी. वो दिन में एक बार चाय पीती हैं, वो भी रोज शाम को सूरज ढलने के बाद

पीली देवी के भाई बिहारी लाल रजवाड़े ने बताया कि उन्होंने डॉक्टरों से भी बात की जिससे ये पता लगाया जा सके कि वो किसी बीमारी से पीड़ित तो नहीं हैं. हालांकि डॉक्टरों को चेकअप करने के बाद उनमें स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी नहीं मिली.

“हम उसे कई अस्पतालों में ले गए हैं, लेकिन कोई भी डॉक्टर उसकी इस स्थिति के पीछे की किसी वजह का पता नहीं लगा सका.”
-बिहारी लाल रजवाड़े, पीली देवी के भाई 
पीली देवी दिन में एक बार चाय पीती हैं
पीली देवी दिन में एक बार चाय पीती हैं

उनके परिवार के सदस्यों के मुताबिक अमूमन पीली देवी घर से बाहर कदम नहीं रखती हैं. वो दिन भर भगवान शिव के पूजा-पाठ में लीन रहती हैं.

कोरिया जिला अस्पताल के डॉ. एसके गुप्ता बताते हैं कि इंसान के लिए सिर्फ चाय पर जिंदा रहना मुमकिन नहीं है.

“ये हैरानी की बात है. वैज्ञानिक रूप से कहें तो, एक इंसान 33 साल तक सिर्फ चाय पर जिंदा नहीं रह सकता. ये बात अलग है कि जब लोग नवरात्रि के दौरान नौ दिनों तक व्रत रखते हैं और इस दौरान केवल चाय पीते हैं. लेकिन 33 साल बहुत समय होता है, यह संभव नहीं है.”
-डॉ. एसके गुप्ता

'चाय वाली चाची' डॉक्टरों की समझ से भले ही परे हों, लेकिन इसे अजूबा ही कहा जाएगा कि बिना खाना खाए एक महिला 33 साल से जिंदा है, वो भी महज चाय पीकर.

ये भी पढ़ें- थाने में पहुंचा आशिक,बोला-मेरा दिल चुरा लिया है,ढूंढ कर लाओ

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our वॉटरकूलर section for more stories.

    Loading...