कंगना और उनकी बहन के खिलाफ मुंबई में FIR, राजद्रोह का मामला दर्ज

बांद्रा कोर्ट ने दिए थे कंगना और उनकी बहन के  खिलाफ एफआईआर के आदेश

Updated
सितारे
2 min read
कंगना रनौत
i

एक्टर कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल के खिलाफ मुंबई पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. बांद्रा कोर्ट ने दोनों के खिलाफ मामला दर्ज करने के आदेश दिए थे. जिसके बाद अब बांद्रा पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. कंगना और उनकी बहन के खिलाफ दो समुदायों के बीच आपसी सदभाव बिगाड़ने और सांप्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिश को लेकर ये एफआईआर हुई है.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक कंगना और उनकी बहन रंगोली के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 153ए (दो समुदायों के बीच धर्म के आधार पर नफरत पैदा करने की कोशिश), 295ए (सांप्रदायिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की कोशिश) और 124ए (राजद्रोह) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

शिकायत के बाद कोर्ट ने दिए आदेश

बताया गया था कि कास्टिंग डायरेक्टर मुन्नवर अली सैय्यद ने कंगना और उनकी बहन के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी. जिसके बाद बांद्रा मजिस्ट्रेट कोर्ट ने दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश जारी किए थे. इस दर्ज शिकायत में कंगना के कई बयानों और ट्वीट्स का जिक्र किया गया था. जिनमें, पालघर में हुई साधुओं की हत्या, मुंबई की तुलना पीओके से करना और सुशांत सिंह राजपूर केस को लेकर किए गए ट्वीट्स शामिल थे.

कर्नाटक की कोर्ट ने भी दिए थे FIR के निर्देश

ये पहला मामला नहीं है जब कंगना रनौत के खिलाफ कोर्ट ने एफआईआर के आदेश जारी किए हों. इससे पहले कर्नाटक की एक कोर्ट ने भी कंगना के खिलाफ पुलिस को एफआईआर दर्ज करने को कहा था. जिसके बाद कर्नाटक में कंगना के खिलाफ एफआईआर दर्ज भी हुई है. कर्नाटक कोर्ट ने कंगना के किसान आंदोलन को लेकर किए गए एक ट्वीट पर ये आदेश दिए थे. तब कंगना ने कृषि विधेयकों (अब कानूनों) का विरोध कर रहे किसानों पर लिखा था,

"जिन लोगों ने CAA पर गलत जानकारी और अफवाहें फैलाई और जिनसे दंगे हुए, ये वही लोग हैं जो अब किसान बिल पर गलत जानकारी फैला रहे हैं और देश में आतंक फैला रहे, ये आतंकवादी हैं. आप अच्छी तरह जानते हैं कि मैंने क्या कहा लेकिन सिर्फ गलत जानकारी फैलाना चाहते हैं."

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!