CBI के भीतर दो टॉप अफसरों के बीच जारी कलह के मुख्य किरदारों को जानिए
CBI के भीतर दो टॉप अफसरों के बीच जारी कलह के मुख्य किरदारों को जानिए(फोटो: altered by Quint Hindi)
  • 1. कौन हैं राकेश अस्थाना?
  • 2. कौन हैं आलोक वर्मा?
  • 3. सतीश बाबू सना कौन है?
  • 4. कौन है देवेंद्र कुमार?
  • 5. कौन हैं मनोज प्रसाद और सोमेश प्रसाद?
  • 6. कौन है सामंत गोयल?
  • 7. कौन है मोईन कुरैशी?
CBI धूमधड़ाका स्टार- अस्थाना-वर्मा-शर्मा और अन्य के बारे में जानिए

सीबीआई के डायरेक्टर आलोक वर्मा और और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के बीच जारी कलह पर केंद्र सरकार ने दखल दिया है. सीबीआई चीफ आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना दोनों को छुट्टी पर भेज दिया है. आलोक वर्मा की जगह अब एम. नागेश्वर राव को अंतरिम डायरेक्टर नियुक्त किया गया है.

पिछ्ले कुछ दिनों से देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई में नंबर वन और नंबर टू के बीच छिड़ा विवाद सुर्खियों में है. सीबीआई के डायरेक्टर और स्पेशल डायरेक्टर ने एक-दूसरे पर गंभीर आरोप लगाए हैं. सीबीआई ने बीते रविवार को अपने ही स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ भ्रष्टाचार का केस दर्ज किया. सीबीआई ने अस्थाना के खिलाफ मांस कारोबारी मोईन कुरैशी से जुड़े एक मामले में सतीश बाबू सना से 3 करोड़ रुपये की घूस लेने के आरोप में एफआईआर दर्ज की है.

सोमवार को प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस मामले में दखल दिया. एजेंसी के डायरेक्टर आलोक वर्मा की पीएम से मुलाकात के बाद इसी केस से जुड़े डीएसपी रैंक के अफसर देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया. आइए समझते हैं कि CBI के भीतर दो टॉप अफसरों के बीच ये कलह कब शुरू हुई और इसके मुख्य किरदार कौन हैं?

  • 1. कौन हैं राकेश अस्थाना?

    राकेश अस्थाना (57) गुजरात काडर के 1984 बैच के आईपीएस अफसर हैं. फिलहाल, वह सीबीआई में स्पेशल डायरेक्टर की पोस्ट पर हैं.

    सीबीआई में डायरेक्टर के बाद अस्थाना की हैसियत नंबर दो की है. फरवरी 2017 में आलोक वर्मा के सीबीआई डायरेक्टर पद पर नियुक्त होने से पहले कुछ महीनों तक अस्थाना ने बतौर कार्यवाहक डायरेक्टर सीबीआई की कमान संभाली थी. अस्थाना को मोदी सरकार का करीबी माना जाता है. 
     CBI के भीतर दो टॉप अफसरों के बीच जारी कलह के मुख्य किरदारों को जानिए
    राकेश अस्थाना 
    इंफोग्राफ: रोहित मोर्य 

    अस्थाना के खिलाफ क्या है केस?

    बीते 15 अक्टूबर को राकेश अस्थाना के खिलाफ सीबीआई ने एक एफआईआर दर्ज की. अस्थाना पर आरोप है कि उन्होंने मीट एक्सपोर्टर और हवाला ऑपरेटर मोइन कुरैशी से जुड़े एक मामले में की जांच में सतीश बाबू सना से घूस ली.

    अस्थाना को इस घूसकांड का मुख्य आरोपी बनाया गया है.

    अस्थाना पर आरोप है कि उन्होंने मनोज प्रसाद नाम के एक बिचौलिए और उसके भाई सोमेश प्रसाद के जरिए घूस ली. सीबीआई की एंटी-करप्शन यूनिट ने 16 अक्टूबर को मनोज को दुबई से दिल्ली लौटने के बाद गिरफ्तार किया था.

    सीबीआई की अंदरूनी कलह

    सीबीआई के भीतर वर्चस्व की जंग आलोक वर्मा के डायरेक्टर बनते ही शुरू हो गई थी. आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना के बीच नंबर वन और नंबर टू होने की ये लड़ाई एक-दूसरे के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाने तक पहुंच गई.

पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो