देश में अब तक 700 से ज्यादा अध्यादेश लाए गए, जानिए पूरा इतिहास
देश में अब तक 700 से ज्यादा अध्यादेश लाए गए, जानिए पूरा इतिहास (फोटो: AP)
  • 1. अध्यादेश क्या है? इसकी जरूरत क्यों पड़ती है?
  • 2. संविधान का अनुच्छेद-123 क्या कहता है?
  • 3. अध्यादेश की समय सीमा क्या होती है?
  • 4. देश में अध्यादेशों का इतिहास
देश में अब तक 700 से ज्यादा अध्यादेश लाए गए, जानिए पूरा इतिहास

मोदी सरकार के तीन तलाक से जुड़े अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई है. इसी के साथ मौजूदा सरकार ने अपने 4 साल से अधिक के कार्यकाल में कुल 38 अध्यादेश ला दिए हैं. पिछली सरकार से तुलना करें, तो मनमोहन सरकार के पहले कार्यकाल (2004-2009) में 36 अध्यादेश लाए गए थे, वहीं दूसरे कार्यकाल (2009-14) में 25 अध्यादेश. साफ है कि अध्यादेश के मामले में मोदी सरकार एक साल पहले ही मनमोहन सरकार को पीछे छोड़ चुकी है.

  • 1. अध्यादेश क्या है? इसकी जरूरत क्यों पड़ती है?

    अध्यादेश सरकार के लिए एक विशेषाधिकार है, इसकी जरूरत तब पड़ती है, जब सरकार किसी बेहद खास विषय पर कानून बनाने के लिए बिल लाना चाहे, लेकिन संसद के दोनों सदन या कोई एक सदन का सत्र न चल रहा हो. या फिर सरकार का कोई बिल राज्यसभा में सांसदों की संख्या कम होने से या किसी और वजह से लटका हुआ हो. ऐसे में सरकार अध्यादेश लाती है.

    देश में अब तक 700 से ज्यादा अध्यादेश लाए गए, जानिए पूरा इतिहास
    प्रतीकात्मक तस्वीर
    (फोटो: The Quint)
    अध्यादेश का प्रभाव संसद के जरिए बनाए गए कानून के बराबर ही होता है. तीन तलाक के मामले में भी ऐसा ही हुआ. लोकसभा में तीन तलाक बिल तो पारित हो गया, लेकिन राज्यसभा में सरकार के पास जरूरी संख्या बल नहीं है. ऐसे में मोदी सरकार अध्यादेश लेकर आई है, जिसे राष्ट्रपति ने मंजूरी दे दी है.
पीछे/पिछलाआगे/अगला

Follow our कुंजी section for more stories.

वीडियो