ADVERTISEMENT

PCOS से जूझ रही महिलाएं आपको ये बातें समझाना चाहती हैं

PCOS से जूझ रही महिलाओं की इन तकलीफों के बारे में जानते हैं आप?

Updated
women-health
3 min read
PCOS से जूझ रही महिलाएं आपको ये बातें समझाना चाहती हैं
i

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) एक हार्मोनल डिसऑर्डर है, जो तब होता है जब एक महिला के हार्मोन का संतुलन बिगड़ जाता है. ये बहुत बड़ी बात नहीं लगती, लेकिन ये कई मुश्किलें पैदा कर सकता है जो दिन-ब-दिन काम करना मुश्किल बना देता है.

सबसे आम PCOS लक्षणों में से कुछ हैं:

  • चेहरे और शरीर पर ज्यादा बाल

  • मुंहासे

  • बाल झड़ना

  • अनियमित पीरियड्स

  • प्रजनन संबंधी समस्याएं

  • वजन बढ़ना

ADVERTISEMENT

कोई डॉक्टर से मिलकर पता लगा सकता है कि उन्हें PCOS है, लेकिन कई ऐसी भी चीजें हैं, जिनके बारे में कोई भी आपको नहीं बताता है. इस ज्ञान और जागरुकता की कमी की वजह से, लोग इस तकलीफ को महसूस किए बिना ऐसी कई चीजें कहने लगते हैं, जो काफी कड़वी और मन को ठेस पहुंचाने वाली होती हैं.

उदाहरण के लिए, हार्मोनल डिसऑर्डर के कारण बाहरी किनारों पर छोटे-छोटे सिस्ट के साथ सूजी हुई ओवरी अनियमित पीरियड्स की वजह होती है, जब इसे इस तरीके से बताया जाए तो क्या ये सुविधाजनक लगती है?

अनियमित पीरियड्स

फोटो: फिट हिंदी

ADVERTISEMENT

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) सिर्फ पीरियड से जुड़ी समस्या नहीं है. अनियमित पीरियड्स इसके तमाम लक्षणों में से सिर्फ एक लक्षण है. देखिए ये वीडियो.

PCOS का मतलब ये नहीं है कि इसके कारण महिला गर्भवती नहीं हो सकती.

सेक्सुअल इंटरकोर्स के समय प्रोटेक्शन लेना जरूरी है. इसका PCOS के होने, न होने से कोई संबंध नहीं.

सेक्सुअल इंटरकोर्स के समय प्रोटेक्शन लेना जरूरी

फोटो: फिट हिंदी

PCOS के साथ टेस्टोस्टेरोन के बढ़े लेवल के कारण, महिलाओं में बालों के झड़ने, शरीर और चेहरे के बालों की असामान्य बढ़त, साथ ही बाल पतले हो सकते हैं.

बालों की असामान्य बढ़त

फोटो: फिट हिंदी

बहुत से लोग बॉडी शेमिंग को एक तरह का हक समझते हैं. शायद ही कभी वे समझते हैं कि ये कितना हानिकारक हो सकता है. PCOS से जूझ रही कुछ महिलाओं में इंसुलिन रेसिस्टेंस भी होता है, जो तब होता है जब शरीर को रक्तप्रवाह से ग्लूकोज को ऊर्जा में परिवर्तित करने में कठिनाई होती है. इंसुलिन प्रतिरोध अक्सर मोटापे के लिए एक बड़ा कारक होता है.

बॉडी शेमिंग

फोटो: फिट हिंदी

ADVERTISEMENT

इंसान का मन और शरीर एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. इसलिए, मन का शरीर पर और शरीर का मन पर प्रभाव होता है. PCOS से जूझ रही महिलाओं को मूड स्विंग या भावनात्मक अस्थिरता का अनुभव हो सकता है, जो डिप्रेशन के लक्षणों में से एक भी हो सकता है. इसका बायोलॉजिकल के साथ-साथ साइकोलॉजिकल प्रभाव भी हो सकता है.

मूड स्विंग या भावनात्मक अस्थिरता

फोटो: फिट हिंदी

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, fit और hindi के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  pcos   PCOS Awareness Month 

ADVERTISEMENT
Published: 
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×