सरकारी नौकरी के लिए होने वाला CET अगले साल से होगा ऑनलाइन

इस सुधार को ऐतिहासिक बताते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इसका अहम उद्देश्य हर उम्मीदवार को समान अवसर प्रदान करना है.

Published
जॉब्स
2 min read
CTET 2020: परीक्षा के लिए शहर बदलने की अंतिम तारीख आगे बढ़ी
i

केंद्र सरकारी पदों के लिए उम्मीदवार शॉर्टलिस्ट करने के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) अगले साल से ऑनलाइन आयोजित किया जाएगा. केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह ने इस बात की जानकारी दी है. सिंह ने कहा कि ये सरकारी नौकरी के इच्छुक युवाओं के लिए बड़ी राहत होगी.

PTI की खबर के मुताबिक, कार्मिक राज्य मंत्री ने बताया, “कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट कराने के लिए नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (NRA) का गठन केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी के साथ किया गया है.”

उन्होंने कहा कि NRA एक मल्टी-एजेंसी बॉडी होगी, जो ग्रुप-बी और सी (नॉन-टेक्निकल) पदों के लिए उम्मीदवारों की स्क्रीनिंग और शॉर्टलिस्ट परीक्षा आयोजित करेगी. सिंह ने कहा, “इस सुधार की सबसे बड़ी खासियत यह है कि देश के हर जिले में कम से कम एक परीक्षा केंद्र होगा, जो दूर-दराज के इलाकों में रहने वाले उम्मीदवारों तक पहुंच बढ़ाएगा.”

इस सुधार को ऐतिहासिक बताते हुए सिंह ने कहा कि इसका अहम उद्देश्य हर उम्मीदवार को समान अवसर प्रदान करना है, ताकि किसी भी उम्मीदवार को नुकसान न हो और सभी को सामाजिक-आर्थिक स्थिति की परवाह किए बिना समान अवसर मिलें.

“इससे महिलाओं और दिव्यांग उम्मीदवारों के साथ-साथ उन लोगों को भी बड़ा लाभ होगा, जो अलग-अलग परीक्षाओं के लिए अलग-अलग केंद्रों पर आर्थिक कारणों से नहीं जा पाते हैं.”
जीतेंद्र सिंह, केंद्रीय मंत्री

सिंह ने कहा कि स्टाफ सलेक्शन कमीशन (SSC), स्टेट सलेक्शन बोर्ड्स (RRBs) और इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सोनल (IBPS) जैसी मौजूदा केंद्रीय रिक्रूटिंग एजेंसियां अपनी जरूरतों के मुताबिक भर्तियां करना जारी रखेंगी और कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट केवल नौकरियों के लिए उम्मीदवारों की प्रारंभिक जांच के लिए होगा.

3 साल के लिए मान्य होगा स्कोर

CET का स्कोर रिजल्ट की घोषणा होने की तारीख से अगले तीन साल तक मान्य होगा. ये स्कोर कैंडिडेट के साथ ही अलग-अलग रिक्रूटमेंट एजेंसियों को भी मुहैया कराया जाएगा. कैंडिडेट को अपना स्कोर सुधारने के दो मौके और मिलेंगे, और सभी स्कोर में बेस्ट वाले स्कोर को माना जाएगा.

CET की मेरिट लिस्ट को NRA राज्यों के साथ कॉस्ट-शेयरिंग के तहत साझा कर सकती है. इससे राज्य सरकार की नौकरियों में भर्ती हो सकेगी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!