ADVERTISEMENT

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल

कई यूजर्स ने इस घटना को फरवरी 2020 दिल्ली हिंसा से भी जोड़ा.

Published
<div class="paragraphs"><p>जंतर-मंतर पर मुस्लिमों के खिलाफ नारे लगे</p></div>
i

दिल्ली में संसद के पास जंतर-मंतर पर 8 अगस्त को मुस्लिमों के खिलाफ सांप्रदायिक नारेबाजी की गई. सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ और नफरत फैलाने वाले नारे लगाए गए. वीडियो वायरल होने के बाद दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. सोशल मीडिया पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर से लेकर कई एक्टिविस्ट और अन्य लोगों ने इस घटना को शर्मनाक बताते हुए कठोर कार्रवाई की मांग की है. कई लोगों ने इस घटना को फरवरी 2020 दिल्ली हिंसा से भी जोड़ा.

ADVERTISEMENT

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने लिखा, "एक अनधिकृत बीजेपी प्रदर्शन कितना शर्मनाक है, जहां अभद्र भाषा और सांप्रदायिक नारे लगाए गए. दिल्ली पुलिस से कड़ी कार्रवाई और दंड की उम्मीद है, यही इस तरह के दुर्व्यवहार को दोबारा होने से रोकेगा."

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837

राइटर नीलांजना रॉय ने लिखा कि दिल्ली में भारतीय मुस्लिमों के खिलाफ नरसंहार ध्यान भटकाने वाली बात नहीं है, ये सब एक प्लान का हिस्सा है.

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837

जर्नलिस्ट-फिल्ममेकर विनोद कापड़ी ने कहा कि इस तरह की नारेबाजी से दिल्ली को फिर से दंगों में झोंकने की साजिश हो रही है.

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837

मुस्लिम एक्टिविस्ट शरजील उस्मानी ने सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कहा कि देश की राजधानी में मुस्लिमों की हत्या की नारेबाजी हो रही है और एक भी सांसद इस बारे में बात करने को तैयार नहीं है. उन्होंने कहा, "भारत में मुसलमान चल रहे नरसंहार के बीच जी रहे हैं."

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837

दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ की FIR

कई यूजर्स ने दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए. रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के वकील और दिल्ली बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय ने रैली बुलाई थी, जिसमें सैकड़ों लोग मौजूद थे. इस रैली में ही मुस्लिमों के खिलाफ ये नारेबाजी की गई.

यूजर्स ने लिखा कि रैली के आयोजकों को लेकर जानकारी है तो पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर क्यों दर्ज की.

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
ADVERTISEMENT

CM अरविंद केजरीवाल की चुप्पी पर सवाल?

दिल्ली में हुई इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चुप्पी पर भी सवाल उठाये जा रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है, लेकिन मुख्यमंत्री की तरफ से इस मामले पर कोई बयान नहीं आया है.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष, अनिल चौधरी ने लिखा, "मरकज के मामले में एफआईआर का आदेश देने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल चुप क्यों हैं?"

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837

कई जर्नलिस्ट्स और नेताओं ने पूछा है कि मुख्यमंत्री अब तक खामोश क्यों हैं?

दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837
दिल्ली में मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ नारे, केजरीवाल और दिल्ली पुलिस पर सवाल
91837

पुलिस ने इस मामले में कनॉट प्लेस थाना के में आईपीसी की धारा 153a, 188 और 51 डीडीएमए एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT